अपना शहर चुनें

States

COVID-19 का नोटिस इन लोगों के लिए बना मुसीबत, दूध और पेपरवाला भी आने से कतरा रहे हैं

एक महीने बाद भी नहीं हटाया गया COVID-19 का नोटिस
एक महीने बाद भी नहीं हटाया गया COVID-19 का नोटिस

निजामुद्दीन कॉलोनी में रहने वाले व्यक्ति का कहना है कोविड-19 का बोर्ड लगा होने के कारण घर के बाहर ना तो सब्जी,दूध का पैकेट और राशन लेने के लिए जा पा रहे हैं और न ही वेंडर हमारे घर सामान देने आ रहे हैं.

  • Share this:
भोपाल.क्वॉरेंटीन का पीरियड पूरा चुके लोगों के लिए कोविड-19 (covid 19) का बोर्ड अब परेशानी बना हुआ है. एक महीने के बाद भी भोपाल के कुछ क्षेत्रों से क्वॉरेंटीइन किए गए लोगों के घर के बाहर लगाए गए covid-19 के पर्चे नहीं निकाले गए हैं.नतीजा ये कि इनके घर में दूध-पेपर वाले आने से अब भी करता रहे हैं.

11 से 13 मार्च के बीच लगाए गए थे पर्चे
कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आने पर उनके आसपास के लोगों को होम क्वॉरेंटीइन किया जा रहा है. भोपाल के अलग-अलग क्षेत्रों में बहुत सारे इलाकों में घरों में ही लोगों को क्वॉरेंटीइन किया गया था. स्वास्थ्य विभाग की तरफ से क्वॉरेंटीइन किए गए लोगों के घर के बाहर कोविड-19 का नोटिस लगाया गया था. 11 से 13 मार्च के बीच घर के बाहर कोविड-19 का पर्चा चस्पा किया गया था. लेकिन 14 दिन का क्वॉरेंटाइन पीरियड पूरा हुए 15 दिन बीत गए और अब महीना भर से ज़्यादा हो चुका लेकिन ये पर्चे अब तक वहीं लगे हुए हैं. क्वॉरेंटीन पीरियड 14 दिन का होता है.

डोर टू डोर सर्वे में शिकायत
कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ने के साथ कंटेनमेंट एरिया और 85 वॉर्डों में लोगों के स्वास्थ्य और परिवार की जानकारी को लेकर एक सर्वे चल रहा है. इस सर्वे में ही क्वॉरेंटीन का पीरियड पूरा कर चुके लोगों ने ये शिकायत की.



सीएम हेल्पलाइन में करेंगे शिकायत
निजामुद्दीन कॉलोनी में रहने वाले व्यक्ति का कहना है कोविड-19 का बोर्ड लगा होने के कारण घर के बाहर ना तो सब्जी,दूध का पैकेट और राशन लेने के लिए जा पा रहे हैं और न ही वेंडर हमारे घर सामान देने आ रहे हैं. इनका कहना है कि अगर एक-दो दिन में नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग ने ये पर्चे नहीं हटाए तो वो सीएम हेल्पलाइन में शिकायत करेंगे.

ये भी पढ़ें-

Lockdown में नगदी नहीं किराना चुरा रहे हैं चोर, एक दिन दो दुकानों के ताले टूटे

डायल 100 पर फोन कर कॉलर ने कहा-साहब मेरे घर में अनाज का दाना नहीं है....
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज