Covid-19 Update: मध्यप्रदेश में कोरोना के 4384 नए मामले आए सामने, 79 लोगों की मौत

अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में कुल 7,57,119 संक्रमितों में से अब तक 6,82,100 मरीज स्वस्थ हो गये हैं. (सांकेतिक फोटो)

मध्यप्रदेश स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के एक अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में शुक्रवार को कोविड-19 के 937 नये मामले इंदौर में आये हैं.

  • Share this:
    भोपाल. मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण (Corona virus infection) के 4384 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 7,57,119 तक पहुंच गयी. राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से 79 व्यक्तियों की मौत हुई है. प्रदेश में अब तक इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 7,394 हो गयी है. मध्यप्रदेश स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के एक अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में शुक्रवार को कोविड-19 के 937 नये मामले इंदौर में आये, जबकि भोपाल में 609 एवं जबलपुर में 279 नये मामले आये. अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में कुल 7,57,119 संक्रमितों में से अब तक 6,82,100 मरीज स्वस्थ हो गये हैं और 67,625 मरीजों का इलाज चल रहा है. उन्होंने कहा कि शुक्रवार को कोविड-19 के 9,405 रोगी स्वस्थ हुए हैं.

    वहीं, कल खबर सामने आई थी कि राजधानी भोपाल सहित प्रदेश में कोरोना के बाद ब्लैक फंगस (Black fungus) के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं. अकेले भोपाल में ब्लैक फंगस से पीड़ित मरीजों की संख्या 245 हो गई है. जबकि पूरे प्रदेश में यह आंकड़ा 700 से ज्यादा है. ब्लैक फंगस का शिकार हो रहे लोगों को इलाज मुहैया कराने के लिए सरकार भी अलर्ट मोड पर है. इलाज में उपयोगी इंजेक्शन जुटाने से लेकर सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए अब तेजी के साथ काम हो रहा है.

    ब्लैक फंगस से निपटने के लिए सरकार की तैयारी पर नजर डालें
    -सीएम शिवराज के निर्देश पर प्रदेश के 5 मेडिकल कॉलेजों भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, इंदौर और रीवा में विशेष वार्ड बनाए गए हैं.
    -सीएम शिवराज ने ब्लैक फंगस से इलाज के लिए जरूरी अम्फोटेरेसिन इंजेक्शन के लिए केंद्रीय रसायन मंत्री मनसुख मांडवीया से फोन पर चर्चा की है.
    -कोविड-19 सेंटर को पोस्ट कोविड-19 सेंटर में बदला जा रहा है.
    -मुख्यमंत्री ने सन फार्मा के प्रमुख दिलीप सांघवी से फोन पर चर्चा कर एंटीफंगल इंजेक्शन की आपूर्ति के लिए बात की है. इस पहल के बाद प्रदेश को 2000 इंजेक्शन सप्लाई किये गए. गुजरात से स्टेट प्लेन ये खेप लेकर एमपी पहुंचा और यहां से अलग-अलग जिलों में इंजेक्शन भेजे गए.