लाइव टीवी

दिल्ली के 'दंगल' में दांव पर लगी है MP के इन नेताओं की साख, चुनाव में जमकर किया था प्रचार

Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 10, 2020, 9:25 PM IST
दिल्ली के 'दंगल' में दांव पर लगी है MP के इन नेताओं की साख, चुनाव में जमकर किया था प्रचार
एमपी के नेताओं ने दिल्ली ने दिल्ली में जकर चुनाव प्रचार किया है

दिल्ली के नतीज़ों में मध्य प्रदेश के नेताओं की साख भी दांव पर लगी है. कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही दलों ने अपने नेताओं को दिल्ली में झोंक रखा था हालांकि एग्ज़िट पोल (Exit Poll) के नतीज़ों ने दोनों ही पार्टियों की नींद उड़ा दी है.

  • Share this:
भोपाल. दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Assembly Elections 2020) के नतीजों का काउंट डाउन शुरू होने को है. दिल्ली में आप (Aam Aadmi Party) सरकार के खिलाफ बीजेपी और कांग्रेस ने पूरा दम लगाया है. दोनों ही सियासी दलों ने प्रदेश से जुड़े पार्टी नेताओं की एक बड़ी फौज को दिल्ली के दंगल में आप के खिलाफ माहौल बनाने और पार्टी की जीत के लिए उतारा था. बीजेपी ने पार्टी के स्टार प्रचारक शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh chouhan) से लेकर पार्टी के सांसदों और विधायकों को दिल्ली के चुनाव में बूथवार जिम्मेदारी सौंपी थी, तो कांग्रेस ने भी ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindhiya) से लेकर कमलनाथ सरकार के युवा मंत्रियों, पार्टी विधायकों को दिल्ली में कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने का जिम्मा सौंपा था. हालांकि एग्जिट पोल के सर्वे ने दोनों ही सियासी दलों की नींद उड़ा दी है.

'दिल्ली की जनता तक पहुंची है पार्टी'
कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने कहा है कि पार्टी अपनी विचारधारा के साथ दिल्ली की जनता तक पहुंची है और देशभर के नेताओं के साथ ही प्रदेश के नेताओं की ड्यूटी चुनाव प्रचार में लगी थी. मंगलवार को नतीजों से तस्वीर साफ हो जाएगी.

बीजेपी को जीत का भरोसा

हालांकि बीजेपी को भरोसा है कि एग्जिट पोल के उलट दिल्ली में भाजपा की सरकार बनेगी. दिल्ली चुनाव में प्रचार की कमान संभालने वाले बीजेपी विधायक विश्वास सारंग ने कहा है कि पार्टी 48 सीटें हासिल कर पूरा बहुमत हासिल करेगी. बीजेपी में राष्ट्रीय स्तर से लेकर बूथ स्तर तक के कार्यकर्ता ने चुनाव में जिम्मेदारी निभाई है.

MP के नेताओं ने जमकर किया था प्रचार
दिल्ली में 70 सीटों के लिए चुनाव हुआ है और अब नतीजों का इंतजार खत्म होने को है. एक्जिट पोल के शुरुआती रुझानों में दिल्ली में फिर से आम आदमी पार्टी की सरकार बनती दिख रही है लेकिन छोटे राज्य के चुनाव में बड़ा दम दिखाने वाले बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं के लिए दिल्ली की हार जीत के कई मायने हैं साथ ही उन नेताओं के लिए भी ये चुनाव अहम है जिन्होंने दिल्ली संग्राम में खुद को सरताज साबित करने के लिए पूरा जोर लगाया है.ये भी पढ़ें -
बिना वजह सिजेरियन या दूसरे ऑपरेशन किए तो सील हो सकता है नर्सिंग होम, सरकार की है ये नयी तैयारी
MP का खाली ख़ज़ाना भरने के लिए कमलनाथ सरकार मोंटेक सिंह अहलूवालिया से लेगी टिप्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 8:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर