लाइव टीवी

WhatsApp पर टी20 वर्ल्ड कप, बुकियों ने लगाए करोड़ों के दांव

Manoj Rathore | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: April 3, 2016, 10:22 AM IST
WhatsApp पर टी20 वर्ल्ड कप, बुकियों ने लगाए करोड़ों के दांव
वॉट्सएप पर सेक्स रैकेट के बाद अब क्रिकेट के काला कारोबार भी हाईटेक हो गया है. पुलिस से बचने के लिए क्रिकेट बुकी अब आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान वॉट्सएप मैसेजिंग सर्विस के जरिए दांव लगा रहे है.

वॉट्सएप पर सेक्स रैकेट के बाद अब क्रिकेट के काला कारोबार भी हाईटेक हो गया है. पुलिस से बचने के लिए क्रिकेट बुकी अब आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान वॉट्सएप मैसेजिंग सर्विस के जरिए दांव लगा रहे है.

  • Share this:
वॉट्सएप पर सेक्स रैकेट के बाद अब क्रिकेट के काला कारोबार भी हाईटेक हो गया है. पुलिस से बचने के लिए क्रिकेट बुकी अब वॉट्सएप मैसेजिंग सर्विस के जरिए दांव लगा रहे है. दरअसल, सोशल मीडिया पर मैसेजिंग को ट्रेस करना पुलिस या आईटी विशेषज्ञों के लिए आसान नहीं होता है. इसी के चलते सटोरियों ने वॉट्सएप पर ग्रुप बनाकर वर्ल्ड कप में करोड़ों में कारोबार किया.

भोपाल पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दो दिन पहले ही एक बड़े सट्टे गिरोह का भंडाफोड़ किया था. इस गिरोह के सदस्यों से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि सटोरियों ने अब अपना तरीका बदल लिया है.

मोबाइल फोन पर कॉल को ट्रेस कर पुलिस कई बार आसानी से बुकी तक पहुंच जाती थी. ऐसे में अब बुकियों ने पुलिस के रेडार से बचने के लिए वॉट्सएप पर अलग-अलग ग्रुप बनाकर क्रिकेट मैच पर दांव लगाना शुरू किया है.

दरअसल, भोपाल क्राइम ब्रांच ने छह सटोरियों को गिरफ्तार कर करीब एक करोड़ के क्रिकेट सट्टे का पर्दाफाश किया था. मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने अवधपुरी और शंकराचार्य नगर में दबिश दी और 20-20 क्रिकेट विश्वकप के सेमीफाइनल पर सट्टा बुक करते हुए छह आरोपियों को पकड़ा था. इन सटोरियों से पूछताछ में ही वॉट्सएप पर सट्टे का खुलासा हुआ है.

'1 करोड़ का सट्टा'

भारत और वेस्टइंडीज के बीच सेमीफाइनल मुकाबले में क्राइम ब्रांच ने दो जगहों पर दबिश देकर बुकियों को पकड़ा था.

क्राइम ब्रांच की टीम को पहली सफलता अवधपुरी क्षेत्र में मिली. यहां तीन बुकियों के पास से 1 लाख 18 हजार रुपए नकदी, 18 मोबाइल फोन, 1 टीवी, 1 सेटअप बॉक्स, रजिस्टर में दर्ज 70 लाख का सट्टा हिसाब मिला.अवधपुरी क्षेत्र में किराए के कमरे में चल रहे सट्टे पर दबिश के दौरान आधारशिला निवासी अभिषेक जैन, बरखेड़ा निवासी वीर सिंह चौहान और पिपलानी निवासी शंकर सिंहा को गिरफ्तार किया गया. आरोपी शंकर सिंहा भेल का ठेकेदार है और लंबे समय से सट्टे के कारोबार से जुड़ा है.

जीजा-साले बन गए बुकी

वहीं, थाना बजरिया में तीन बुकियों के पास से 16 हजार रुपए नकदी, 6 मोबाइल फोन, 1 टीवी, 1 सेटअप बॉक्स, रजिस्टर में दर्ज 30 लाख का सट्टा हिसाब मिला.

सभी सटोरिए खुद को स्टूडेंट बताकर कई दिनों से किराए के कमरे में रह रहे थे. लेकिन
मुखबिर की सूचना पर क्राइम ब्रांच की टीम ने दबिश दी और शंकराचार्य नगर निवासी दिन्नू उर्फ दिनेश सैनी, अभिषेक जैन और रितेश जैन को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी अभिषेक और रितेश रिश्ते में जीजा-साले हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 3, 2016, 10:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर