अपना शहर चुनें

States

सचिन को आउट करने वाला बना ओमान की जीत का हीरो

145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकने के बावजूद मध्यप्रदेश में कभी भी उनके हूनर की कद्र नहीं की गई. इस वजह से मजबूर होकर उन्हें भारत छोड़कर दूसरे देश के लिए खेलना पड़ रहा है.
145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकने के बावजूद मध्यप्रदेश में कभी भी उनके हूनर की कद्र नहीं की गई. इस वजह से मजबूर होकर उन्हें भारत छोड़कर दूसरे देश के लिए खेलना पड़ रहा है.

145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकने के बावजूद मध्यप्रदेश में कभी भी उनके हूनर की कद्र नहीं की गई. इस वजह से मजबूर होकर उन्हें भारत छोड़कर दूसरे देश के लिए खेलना पड़ रहा है.

  • Pradesh18
  • Last Updated: March 10, 2016, 6:47 PM IST
  • Share this:
धर्मशाला में खेले गए टी-20 वर्ल्ड कप के दूसरे क्वालिफायर मुकाबले में ओमान ने आयरलैंड पर दो विकेट से रोमांचक जीत दर्ज की. ओमान की इस जीत का मध्यप्रदेश कनेक्शन रहा है.

सीहोर एक्सप्रेस के नाम से मशहूर मुनीश अंसारी के शानदार प्रदर्शन की बदौलत ओमान ने वर्ल्ड कप टी20 टूर्नामेंट में एक बड़ा उलटफेर कर दिया.

पहले मुनीश की कहर बरपाती गेंदों की बदौलत ओमान ने विपक्षी टीम को 154 रन पर रोक दिया. मुनीश ने 37 रन देकर तीन विकेट लिए, जिसमें केविन ओ'ब्रायन का अहम विकेट भी शामिल था.



जवाब में ओमान ने इस लक्ष्य को ने दो गेंद शेष रहते हुए हासिल कर लिया. मैच के अंतिम ओवर में ओमान को जीत के लिए 14 रन की दरकार थी. ओवर की पहली और दूसरी गेंद पर चौका जड़कर ओमान जीत के करीब पहुंच गया. तीसरी गेंद पर एक रन बना, जबकि चौथी गेंद पर 32 रन बनाने वाले आमिर अली आउट हो गए.
मैच का पलड़ा अब आयरलैंड की तरफ झुक रहा था. ऐसे में बल्लेबाजी के लिए उतरे गेंदबाज मुनीश अंसारी के सामने विजयी रन बनाने की चुनौती थी. 20वें ओवर की चौथी गेंद उनके कमर से ज्यादा ऊंचाई पर थी, जिसे वह टच करने में भी नाकाम रहे. लेकिन विकेट के पीछे कीपर से भी चूक हो गई और नो बॉल व बाय के चार रन के साथ ओमान ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की.

दरअसल, कई साल तक क्रिकेट खेलने के बावजूद मुनीश अंसारी का चयन मध्यप्रदेश टीम में नहीं किया गया था. घरेलू क्रिकेट में नजरअंदाज किए जाने के बाद मुनीश ने ओमान का रूख किया और अपनी तेज गेंदों से सफलता की नयी इबारत लिखी.

परिजनों को खुशी के साथ अफसोस

सीहोर एक्सप्रेस के नाम से मशहूर मुनीश ने अभ्यास मैच में 10 विकेट हासिल कर अपने हुनर का लोहा मनवाया हैं. इसके बाद ही उनका चयन टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में हुआ था.

हालांकि, मुनीश के भाई यूनुस अंसारी ने कुछ समय पहले प्रदेश18 18 से बातचीत में कहा था कि भाई की सफलता से पूरा परिवार गर्व महसूस कर रहा हैं. हालांकि, सभी को इस बात का मलाल है कि 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकने के बावजूद मध्यप्रदेश में कभी भी उनके हूनर की कद्र नहीं की गई. इस वजह से मजबूर होकर उन्हें भारत छोड़कर दूसरे देश के लिए खेलना पड़ रहा है.

यूनुस बेहद तल्ख अंदाज में कहते है कि भेदभाव की वजह से मुनीश को घरेलू क्रिकेट में मौका नहीं दिया गया. 145 किलोमीटर रफ्तार से गेंद फेंकने के बावजूद मुनीश को भी डिवीजन टीम में चयन लायक नहीं समझा गया. इस वजह से मायूस होकर उन्हें छह साल पहले देश छोड़ने का फैसला लेना पड़ा.

सचिन को किया था आउट

क्रिकेट विशेषज्ञ महावीर आर्य बताते है कि मुनीश ने अभ्यास सत्र के दौरान कई बार तेज रफ्तार से गेंदबाजी करते हुए दिग्गज क्रिकेटरों को प्रभावित किया था. गोली की रफ्तार से गेंद करने वाले मुनीश ने क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंडुलकर, इंग्लैंड के बल्लेबाज एंड्रयू फ्लिंटॉफ जैसे दिग्गज बल्लेबाजों को आउट किया था.

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज वसीम अकरम और अजय जाडेजा ने भी उनकी काबिलियत को सलाम किया था. इतना दमखम और क्षमता रखने के बावजूद मुनीश का चयन कभी डिवीजन क्रिकेट टीम के लिए भी नहीं किया गया. बताते है कि राहुल द्रविड़ भी सीहोर एक्सप्रेस के मुरीद बन गए थे.

हरभजन सिंह को दिया गच्चा

मुनीश के सीहोर एक्सप्रेस बनने की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है. मुनीश आम भारतीयों की तरह गली क्रिकेट खेलकर ही खुश हो लिया करते थे. इसी दौरान उन्हें स्पीड स्टार कांटेस्ट की जानकारी मिली थी. इस कांटेस्ट ने उनकी राह बदल दी. फाइनल मुकाबले में उन्होंने हरभजन सिंह को पहली गेंद पर क्लीन बोल्ड कर दिया. दूसरी गेंद में हरभजन के हाथ का बल्ला दो टुकड़ों में बंट गया और तीसरी गेंद पर हरभजन के हाथ का बल्ला छिटक कर दूर जा गिरा.

मजदूर के बेटे ने अरब में बहाया पसीना

मजदूर परिवार से आने वाले मुनीश की सफलता की कहानी संघर्ष और हर राह पर मुश्किलों से भरी है. सीहोर जिले के गौरव अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर मुनीश अंसारी का चयन उनके कड़े अभ्यास की बदौलत हुआ है. कई सालों से मैदानों में पसीना बहाने के बाद अब मुनीश ने यह मुकाम हासिल किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज