लाइव टीवी

मंत्री बाला बच्चन के रिपोर्ट कार्ड में दावा- माफियाओं पर कसी लगाम, महिला अपराधों में आई कमी

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 11, 2019, 11:31 PM IST
मंत्री बाला बच्चन के रिपोर्ट कार्ड में दावा- माफियाओं पर कसी लगाम, महिला अपराधों में आई कमी
मंत्री बाला बच्चन के रिपोर्ट कार्ड में दावा अपराधों पर कसी लगाम

मंत्री बाला बच्चन (Bala Bachchan) ने अपने विभागों गृह, जेल, तकनीकी शिक्षा का एक साल का रिपोर्ट कार्ड (Report Card) पेश किया. बाला बच्चन ने एक साल में महिला अपराध समेत दूसरे गंभीर अपराधों में कमी आने का दावा किया है. उन्होंने पुलिस आधुनिकीकरण, जेलों की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने समेत और भी कई कार्यों का ज़िक्र किया.

  • Share this:
भोपाल. मंत्री बाला बच्चन के रिपोर्ट कार्ड के अनुसार प्रदेश में अपराध (Crime) पर कंट्रोल करने के साथ साथ पुलिस आधुनिकीकरण (Police Modernization) के काम को अंजाम तक पहुंचाया जा रहा है. प्रदेश में माफियाओं पर लगाम लगाने के लिए विशेष अभियान चलाकर अवैध गतिविधियों पर लगाम कसी जा रही है. रिपोर्ट कार्ड के मुताबिक नशे के कारोबार पर लगातार कार्रवाई के साथ साथ जेलों की सुरक्षा को भी पुख्ता किया जा रहा है. रिपोर्ट कार्ड के मुताबिक युवाओं को रोजगार देने के लिए भी सरकार ने कई कदम उठाए हैं.

अपराधों पर किया कंट्रोल
मंत्री बाला बच्चन ने कहा कि 15 सालों में बीजेपी सरकार ने प्रदेश की विरासत को अराजकता में तब्दील कर दिया था. महिला अपराधों से लेकर तमाम गंभीर प्रकृति के अपराध बीजेपी सरकार में लगातार बढ़ रहे थे, लेकिन कांग्रेस सरकार ने अपने एक साल के कार्यकाल के दौरान ही अपराधों को कंट्रोल में करने का काम किया है.

कानून-सुरक्षा व्यवस्था का रिपोर्ट कार्ड

>> एक साल में हत्याओं में 3.5 प्रतिशत, हत्या के प्रयासों में 3.93 प्रतिशत, डकैती में 20.37 प्रतिशत, महिलाओं के साथ छेड़छाड़ के साथ रेप के मामलों में 12.96 प्रतिशत कमी आई है. कुल मिलाकर गंभीर अपराधों पर पुलिस का नियंत्रण बढ़ा है.
>> नशे के कारोबार पर लगाम कसते हुए एक साल में 3279 मामलों में 4051 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया.
>> अपराधों पर नियंत्रण के लिए नवीन चौकी, थाने, पुराने थानों का उन्नयन के कुल 57 प्रस्तावों को सैद्धांतिक स्वीकृति दी गई.>> महिला पुलिसकर्मियों और फरियादियों के लिए 676 थानों में अलग से शौचालय का निर्माण किया जा रहा है. इनमें 225 का निर्माण पूरा हो चुका है, जबकि 137 का निर्माण चल रहा है.

जेलों की सुरक्षा को किया मजबूत
>> प्रदेश के 10 जिलों में नई जेलें बनाना प्रस्तावित है.
>> 125 जेलों में से 29 जेलों में महिला टॉयलेट की व्यवस्था की गई, बाकी जेलों में व्यवस्था की जा रही है.
>> एक साल में 37 जेलों में ई प्रिजन कार्यक्रम प्रारंभ कर बंदियों का डेटाबेस तैयार किया जा रहा है. सभी जेलों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं. सभी केंद्रीय जेल और 9 जिला जेलों में इलेक्ट्रिक फेंसिंग की व्यवस्था की जा रही है. जेलों में 590 वॉकी टॉकी सेट, 22 बेस सेट मुहैया कराए गए हैं.
>> बंदियों को मिलने वाली राशि प्रति बंदी प्रतिदिन 45 रुपए से बढ़ाकर 48 रुपए की गई है.

रोजगार की दिशा में बढ़ाए कदम
एक साल में तकनीकी शिक्षा विभाग ने कौशल विकास के क्षेत्र में कई महत्वपूर्ण कार्य किए हैं. मंत्री बाला बच्चन ने कहा कि 97 कैंपस में प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न कंपनियों द्वारा 2059 आईटीआई प्रशिक्षाणार्थियों का प्राथमिक चयन किया गया. 198 आईटीआई प्रशिक्षणार्थियों ने स्वयं के रोजगार की स्थापन के लिए ऋण प्रकरण दिए हैं. प्रदेश में लगने वाले उद्योगों में 70 प्रतिशत रोजगार प्रदेश के युवाओं को मिलेगा.

ये भी पढ़ें -
नागरिकता संशोधन बिल को लेकर गृहमंत्री बाला बच्चन का बड़ा बयान, कह दी ये बात
अतिथि विद्वानों का ऐलान- नई नीति में अपना ये वादा भूल गई सरकार, जारी रहेगा धरना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 11:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर