लाइव टीवी

दो शातिर बदमाशों को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार, फर्जी तरीके से तैयार करते थे क्रेडिट कार्ड

Jitendra Sharma | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 6, 2019, 9:09 AM IST
दो शातिर बदमाशों को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार, फर्जी तरीके से तैयार करते थे क्रेडिट कार्ड
बैंक कर्मचारी की मिलीभगत से लोगों से फर्जी क्रेडिट कार्ड के जरीए धोखाधड़ी करने वाले शातिर बदमाश गिरफ्तार (सांकेतिक तस्वीर)

राजधानी भोपाल (Bhopal) में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने बैंक कर्मचारी से सांठगाठ कर फर्जी तौर से क्रेडिट कार्ड तैयार करने वाले दो शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने बैंक कर्मचारी से सांठगाठ कर फर्जी तौर से क्रेडिट कार्ड तैयार करने वाले दो शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए बदमाश बैंक कर्मचारी की मिलीभगत से लोगों से फर्जी क्रेडिट कार्ड के जरीए धोखाधड़ी कर उनके खाते से पैसा ट्रांसफर कर लेते थे. फिलहाल, पुलिस पकड़े गए दोनों  बदमाशों से पूछताछ कर रही है.

पूरा मामला

मामले की शिकायत करने वाला फरियादी (complainant) अनूप बदलानी निजी बैंक में हैं, जिन्होंने पुलिस को बताया कि किन्ताली रजुलु नाम के एक व्यक्ति ने उनके दस्तावेज का उपयोग कर फर्जी क्रेडिट कार्ड तैयार कर लिया. इसके बाद उनसे 2 लाख 31 हजार रुपए की धोखाधड़ी की. इस मामले में उन्होंने पुलिस को शिकायत दी है. इस पर जांच में फर्जी क्रेडिट कार्ड की जानकारी स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक से ली गई, जिसमें बैंक से मिले मोबाइल नंबर 9584083207 पर आमिर रजा नाम के युवक की जानकारी पुलिस को मिली है, जो जतारा जिला टीकमगढ़ का रहने वाला है. इससे फर्जी क्रेडिट कार्ड के मालमे में पूछताछ की गई तो वह पुलिस को गुमराह करने लगा.

सख्ती करने पर बताया सारा सच

पुलिस ने जब सख्ती से पूछताछ की तो आमिर रजा और अजीत बामने नाम के युवकों ने फर्जी क्रेडिट कार्ड के जरीए लोगों को ठगने की बात कबूल कर ली. अब इनके खिलाफ आईपीसी की धारा 420,471 के तहत अपराध दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है.

वारदात का तरीका

आरोपी आमिर रजा और अजीत बामने दोनों बैंक में क्रेडिट कार्ड बनाने का काम करते थे. उसी दौरान आरोपी को ज्यादा पैस कमाने का लालच आया. उन्होंने दूसरे किसी अन्य व्यक्ति के दस्तावेज उपयोग कर क्रेडिट कार्ड बनाने का काम शुरू किया, जिससे पैसा निकालने का तरीका अपनाया और वे इसमें कामयाब रहे. आरोपी ऐसे व्यक्ति को टारगेट करते थे जो बाहर का निवासी हो जिसे क्रेडिट कार्ड की जरूरत हो.ये भी पढ़ें:- यूरिया सियासत: दिल्ली से सागर वाया भोपाल, बीजेपी का क्या है प्लान?

ये भी पढ़ें:- सिंहस्थ घोटाले की जांच के घेरे में बीजेपी के कई नेता, गर्मी में ख़रीदी वैसलीन!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 9:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर