BJP में डैमेज कंट्रोल की कोशिश: राकेश सिंह और शिवराज के बाद नरोत्तम मिश्रा भी दिल्ली तलब
Bhopal News in Hindi

BJP में डैमेज कंट्रोल की कोशिश: राकेश सिंह और शिवराज के बाद नरोत्तम मिश्रा भी दिल्ली तलब
मोदी-शाह

बीजेपी के कुछ और विधायक हैं जिनके बारे में खबर आ रही है कि वो कांग्रेस में जा सकते हैं.

  • Share this:
ऊपरी तौर पर बीजेपी भले ही कहे कि ऑल इज वैल, लेकिन अंदरखाने पार्टी में तूफान मचा हुआ है. पार्टी अपने विधायकों के बाग़ी तेवरों से घबरायी हुई है. उसके सामने अभी सबसे बड़ी चुनौती अपने सदस्यों को एकजुट रखने की है. प्रदेश के नेता भोपाल से लेकर दिल्ली तक दौड़ लगा रहे हैं. नारायण त्रिपाठी और शरद कोल के बाद और भी कुछ विधायक पर बीजेपी की नज़र है. उसे डर है कि कहीं वो भी कांग्रेस का हाथ ना थाम लें. शिवराज और राकेश सिंह पहले ही दिल्ली में हैं. आलाकमान के निर्देश पर अब नरोत्तम मिश्रा भी दिल्ली पहुंच गए हैं.

बीजेपी की कमज़ोर कड़ी

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा सब कंट्रोल में है. लेकिन सब जानते हैं कि पार्टी में हलचल मची हुई है. बीजेपी को अब विजयपुर विधायक सीताराम, सीहोर विधायक सुदेश राय और संजय पाठक के कांग्रेस के संपर्क में होने की ख़बर ने सतर्क कर रखा है.कांग्रेस से बीजेपी में गए पूर्व मंत्री संजय पाठक के गुरुवार को सीएम कमलनाथ से मिलने की ख़बर आयी. हालांकि बाद में उन्होंने ट्वीट कर ऐसी किसी मुलाकात से इंकार किया.



इन पर भी नज़र
बीजेपी के कुछ और विधायक हैं जिनके बारे में खबर आ रही है कि वो कांग्रेस में जा सकते हैं. इन्हीं संकेतों के कारण बीजेपी अब मुड़वारा विधायक संदीप जायसवाल, चंदला विधायक राजेश प्रजापति पर भी नजर बनाए हुए है. पहले बीजेपी विधायक दिनेश राय मुनमुन के बारे में भी ऐसी ही ख़बर मिल रही थी. लेकिन बाद में उन्होंने इसका खंडन कर दिया था.

नरोत्तम और शिवराज का रोल
पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा को नारायण त्रिपाठी और शरद कोल को फिर से पार्टी में लाने की जिम्मेदारी​ दी गयी है. वहीं शिवराज सिंह चौहान को उन विधायकों को मनाने की ज़िम्मेदारी दी गयी है जिनके कांग्रेस में जाने का डर है. इस हलचल के बीच प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और शिवराज सिंह विधायकों से मेल मुलाकात कर गुरुवार को दिल्ली चले गए थे.

सब कंट्रोल में है
जाने से पहले राकेश सिंह ने कहा था कि पार्टी में सब कंट्रोल में है. गुरुवार को राकेश सिंह, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत ने बीजेपी दफ्तर में करीब 2 घंटे तक बंद कमरे में बैठक की थी. खास बात ये थी कि बैठक में कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए संजय पाठक को भी चर्चा के लिए बुलाया गया था.बैठक में बागी हुए बीजेपी के दोनों विधायकों के खिलाफ एक्शन और केंद्रीय नेतृत्व को सौंपी जाने वाली रिपोर्ट पर चर्चा हुई थी.

पाठक का सफाईनामा

उधर संजय पाठक ने कहा था कि उनके बीजेपी के साथ कांग्रेस के लोगों से भी अच्छे संबंध हैं. शीर्ष नेतृत्व से भी उनका पारिवारिक संबंध हैं. मैं भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता हूं और जीवनपर्यंत बीजेपी से जुड़े रहेंगे.

ये भी पढ़ें-OMG!! घोर कलयुग : भोलेशंकर ने अदालत में लगायी गुहार

बीजेपी के बाग़ी बोले-सरकार गिराना मुझे अच्छा नहीं लगता

LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading