डबरा में बेजु़बानों के साथ बर्बरता, बंद कमरे में मरे मिले 17 मवेशी

डबरा के एक स्कूल में कमरे में 17 गाय मरी मिलीं
डबरा के एक स्कूल में कमरे में 17 गाय मरी मिलीं

पशुपालन मंत्री लाखन सिंह ने जांच के आदेश दे दिए हैं. न्यूज़ 18 से खास बातचीत में उन्होंने कहा ये घटना बर्बरतापूर्ण है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

  • Share this:
भोपाल.डबरा (dabra)के पास समूदन गांव में बेजुबानों के साथ बर्बरता का बड़ा मामला सामने आया है. यहां एक स्कूल (school)के कमरे में बंद 17 iगायों (cow)ने भूख प्यास से दम तोड़ दिया. गायों को कमरे में किसने बंद किया ये अभी तक पता नहीं चल पाया है. मामला सामने आने के बाद से ही इलाके के लोगों में खासी नाराजगी है. प्रदेश के पशुपालन मंत्री लाखन सिंह(lakhan singh) ने जांच के आदेश दे दिए हैं.

दम घुटने से मौत
बताया जा रहा है कि किसी सिरफिरे ने खेत में जानवरों के घुसने से परेशान होकर इन्हें एक कमरे में बंद कर दिया था. एक साथ एक कमरे में 17 पशु बंद होने और पानी चारा न मिलने की वजह से सबकी दम घुटने से मौत हो गई.
​क्या है पूरा मामला ?
ग्वालियर के समूदन गांव में किसी ने 17 गायों को एक स्कूल के कमरे में बंद कर दिया. बताया जा रहा है कि ये मवेशी खेत में घुसकर फसल ख़राब कर रहे थे. इससे परेशान होकर किसी ने गायों को कमरे में बंद कर दिया. अनुमान है कि गाय करीब हफ्ते भर तक कमरे में बंद रहीं. इस दौरान उन्हें चारा-पानी कुछ भी नहीं दिया गया. धीरे-धीरे सबने दम तोड़ दिया.गायों के मरने के बाद जब स्कूल में बदबू आई तो बच्चों ने अपने घरवालों को बताया. इस तरह बात खुली.
खबर मिलते ही आननःफानन में सभी गायों की लाश निकालकर उन्हें दफनाया जाने लगा. गायों को दफनाएं जाने के दौरान इस बात की खबर हिंदूवादी संगठनों को लग गई. उसके कार्यकर्ता वहां पहुंच गए, जिससे हंगामे की स्थिति बन गयी. प्रशासन के दखल के बाद गायों को दफनाया गया.बाद मामले में जांच के आदेश दे दिए गए.


पशुपालन मंत्री ने की न्यूज़ 18 से बात
ग्वालियर के समूदन गांव में 17 गायों की मौत के मामले में पशुपालन मंत्री लाखन सिंह ने जांच के आदेश दे दिए हैं. न्यूज़ 18 से खास बातचीत में उन्होंने कहा ये घटना बर्बरतापूर्व है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं और जो भी गायों को बंद करने का दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.
कुछ सवाल
इस मामले में कुछ सवाल भी उठ रहे हैं कि आख़िर गाय इतने दिन बंद रहीं तो किसी को इसकी जानकारी कैसे नहीं लगी. आखिर गाय रंभाई तो होंगी. ये गाय हैं किसकी? इनके मालिकों ने अपने पशु ढूंढ़ने की कोशिश ज़रूर की होगी. स्कूल के कमरे में गाय कैसे बंद कर दी गयीं और स्कूल वालों ने देखा तक नहीं.

ये भी पढ़ें-Photos : इस तरह चल रही है अरबपति अफसर आलोक खरे के घर की तलाशी

MP में IAS और IPS लॉबी में तकरार- मुख्य सचिव एस आर मोहंती तक पहुंची शिकायत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज