5 रुपये में भोजन कराने वाली ये रसोई 18 दिन से है बंद, सैकड़ों लोग लौट रहे भूखे

भोपाल में गरीबों को पांच रुपए में भरपेट खाना देने वाली दीनदयाल रसोई पर बीते 20 जून से ताला लगा है. नगर निगम की ओर से संचालित इस रसोई में भोजन की उम्मीद में आ रहे सैकड़ों लोग भूखे ही लौट रहे हैं.

Pooja Mathur | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 8, 2019, 6:39 PM IST
5 रुपये में भोजन कराने वाली ये रसोई 18 दिन से है बंद, सैकड़ों लोग लौट रहे भूखे
दीनदयाल रसोई 20 जून से बंद है
Pooja Mathur | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 8, 2019, 6:39 PM IST
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में गरीबों को पांच रुपये में भरपेट खाना देने वाली दीनदयाल रसोई पर बीते 20 जून से ताला लगा है. नगर निगम की ओर से संचालित इस रसोई में भोजन की उम्मीद में आ रहे सैकड़ों लोग भूखे ही लौट रहे हैं. रसोई में काम करने वाले कर्मचारियों का कहना है कि खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की ओर से राशन नहीं मिलने के कारण रसोई बंद करनी पड़ी.

दीनदयाल रसोई योजना के बंद होने पर पूर्व सीएम शिवराज ने ट्वीट कर अपना दर्द बयान किया है. शिवराज ने सोशल मीडिया ट्वीटर पर लिखा, ‘मैंने प्रदेश के गरीबों का पेट भरने के लिए दीनदयाल रसोई शुरू की थी, उससे लाखों लोग लाभान्वित भी हो रहे थे. लेकिन कांग्रेस सरकार से गरीबों का सुख कहां देख जाता है.'

वहीं मामले पर खाद्य मंत्री प्रतियुमन सिंह तोमर का कहना है की योजनाओं का नाम बदलने में कांग्रेस विश्वास नही रखती. सिस्टम में कमिया देखी जा रही हैं. भ्रष्टाचारियों को दर किनार कर ज़रूरतमंदों को लाभ पहुचाया जाएगा.



बता दें कि अप्रैल 2017 में बीजेपी सरकार ने तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन की तर्ज पर दीनदयाल रसोई योजना की प्रदेश में शुरूआत की थी. योजना का मकसद मजदूर और गरीब तबके के लोगों को बहुत ही सस्ते दर पर भोजन उपलब्ध कराना था. भोपाल के बाद इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर सहित दूसरे शहरों में भी ऐसी रसोई शुरू की गई थी.

ये भी पढ़ें- OMG: यहां पर है अनोखा ‘बोलता पत्थर’, जिसे बजाने पर आती है ढोल नगाड़ों की अवाजें

ये भी पढे़ं- बहन की ननद रेप के झूठे केस में फंसाने की दे रही थी धमकी, लिंग बदलकर देवेंद्र बना देविका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 10:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...