MP में बर्ड फ्लू: इन तरीकों का करें इस्तेमाल, नहीं होगा खतरा, बिजनेस 30% डाउन

मध्यप्रदेश में चिकन-अंडों का कारोबार 30 फीसदी कम हो गया. (प्रतिकात्मक फोटो)

मध्यप्रदेश में चिकन-अंडों का कारोबार 30 फीसदी कम हो गया. (प्रतिकात्मक फोटो)

प्रदेश में चिकन और अंडों के इस्तेमाल पर रोक नहीं लगाई गई है. पशुपालन विभाग ने इसके लिए जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं. विभाग के मुताबिक, खाने से पहले अंडो और चिकन को अच्छी तरह पका लें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 8:58 PM IST
  • Share this:
भोपाल.  मध्यप्रदेश में फिलहाल अंडे और चिकन के इस्तेमाल पर रोक नहीं लगाई गई है. पशुपालन विभाग ने कहा है कि आप इनका इस्तेमाल करें, लेकिन अच्छी तरह से पका लें, ताकि आपको किसी भी तरह का खतरा न हो. इस बीच प्रदेश में चिकन का कारोबार जबरदस्त प्रभावित हुआ है. बर्ड फ्लू के कारण कारोबार में 30 फ़ीसदी की गिरावट हुई दर्ज हुई है.

पोल्ट्री फॉर्म एसोसिएशन ने बताया कि बर्ड फ्लू की खबरों के बाद कारोबार बहुत कम हो गया है. भोपाल और उसके आसपास के इलाकों में 400 से ज्यादा है पोल्ट्री फॉर्म हैं, जहां से बड़े पैमाने पर कारोबार होता है. जानकारी के मुताबिक, अकेले भोपाल में ही हर दिन 10 से 12 टन चिकन की खपत होती है.

पोल्ट्री फॉर्म्स में संक्रमण रोधी दवा के छिड़काव के निर्देश

वहीं, दूसरी ओर पशुपालन संचालक आरके रोक ने भी पोल्ट्री फॉर्म एसोसिएशन के साथ बैठक कर जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए. फ्लू को नियंत्रित करने के लिए पशुपालन विभाग ने पोल्ट्री फॉर्म में नियमित रूप से सैनिटाइजेशन और संक्रमण रोधी दवा के छिड़काव करने के दिए निर्देश हैं.
मध्य प्रदेश में बढ़ा बर्ड फ्लू का खतरा

मध्य प्रदेश में बर्ड फ्लू (Bird flu) का खतरा अब बढ़ने लगा है. 1 दिन पहले तक आधा दर्जन जिलों में बर्ड फ्लू होने की पुष्टि हुई थी, लेकिन अब इसकी संख्या बढ़कर 8 हो गई है. बर्ड फ्लू की पुष्टि पशुपालन विभाग ने की है. इंदौर (Indore) और नीमच में मुर्गा मुर्गियों में बर्ड फ्लू होने की आशंका है. इंदौर नीमच में  चिकन शॉप से सैंपल लिए गए थे. उन दुकानों के चाकू और कटर के सैंपल में बर्ड फ्लू होने की पुष्टि हुई है. विभाग मान रहा है कि यह मुर्गा मुर्गियों में बर्ड फ्लू का संक्रमण है. लेकिन इसकी जांच की जा रही है.

Youtube Video




नीमच और इंदौर में मामला गंभीर

नीमच और इंदौर में जिन दुकानों में ये संक्रमण मिला है जिला प्रशासन ने उन दुकानों के 1 किलोमीटर के दायरे की सभी चिकन और मीट शॉप को बंद करने का फैसला किया है. पशुपालन विभाग के मुताबिक मध्य प्रदेश के 10 जिलों से पक्षियों की मौत की खबर आई है. 22 जिलों के सैंपल भोपाल की हाई सिक्योरिटी लैब में भेजे गए हैं. मंदसौर, नीमच, इंदौर, आगर, खरगोन, देवास, गुना, खंडवा में कौओं की मौत हुई है. खंडवा में कौओं के साथ बगुलो की भी मौत होने की पुष्टि हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज