भोपाल पुलिस के इस आरक्षक को 10 साल से DGP भी ठोक कर रहे हैं सलाम

रामचन्द्र को इस बात की ख़ुशी होती है कि वो अपना काम बखूबी कर रहे हैं. महज एक सिपाही होने बाद भी प्रदेश के पुलिस मुखिया से लेकर कलेक्टर,एसपी तक सब सलाम करते हैं.

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 13, 2019, 5:25 PM IST
Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 13, 2019, 5:25 PM IST
मध्य प्रदेश पुलिस (police) में एक ऐसा आरक्षक है जिसे पुलिस महकमे का आला अफसर यानी पुलिस महा निदेशक भी सैल्यूट करते हैं. ऐसा एक या दो बार से नहीं बल्कि पूरे 10 साल से ये सिलसिला चल रहा है. इस आरक्षक का नाम है रामचंद्र कुशवाह. रामचंद्र भी पूरे रुतबे के साथ DGP के सैल्यूट का जवाब देता है.

5 घंटे का रुतबा
रामचंद्र कुशवाह भोपाल पुलिस में आरक्षक हैं. आम दिनों में वो एक आम आरक्षक की तरह काम करते हैं. लेकिन स्वतंत्रता दिवस पर वो एकाएक बेहद ख़ास हो जाते हैं. उनका रुतबा भी मुख्यमंत्री की तरह होता है. हालांकि ये रुतबा सिर्फ 5 घंटे के लिए रहता है. उसके बाद वो फिर से आम आरक्षक बन जाते हैं.



फुल ड्रेस रिहर्सल
रामचंद्र कुशवाह को ये रुतबा स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मिलता है. 15 अगस्त से दो दिन पहले 13 अगस्त को भोपाल में स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह की फुल ड्रेस रिहर्सल होती है.इसमें रामचंद्र कुशवाह को डमी मुख्यमंत्री बनाया जाता है. वो बतौर मुख्यमंत्री परेड की सलामी लेते हैं. अब क्योंकि वो डमी सीएम होते हैं इसलिए परेड में शामिल NCC कैडेट्स से लेकर प्रदेश के पुलिस महा निदेशक तक रामचंद्र कुशवाह को सलाम ठोकते हैं.


Loading...

10 साल से रुतबा कायम
अब ये इत्तिफाक़ ही है कि रामचंद्र कुशवाह एक नहीं बल्कि 10 साल से डमी सीएम बनकर परेड की सलामी ले रहे हैं. इस दौरान कई डीजीपी बदल गए लेकिन रामचंद्र का रुतबा कायम रहा.


क्या कहते हैं डमी सीएम
अब मुख्यमंत्री बनकर खुद रामचंद्र क्या महसूस करते हैं, ये जानना भी रोचक है. उनके लिए ये एक किरदार से ज्यादा ड्यूटी है.और वो अपनी ड्यूटी पूरी ईमानदारी से करते है.रामचन्द्र को इस बात की ख़ुशी होती है कि वो अपना काम बखूबी कर रहे हैं. महज एक सिपाही होने बाद भी प्रदेश के पुलिस मुखिया से लेकर कलेक्टर,एसपी तक सब सलाम करते हैं. रिहर्सल के दौरान वो डायस पर जाकर बतौर मुख्यमंत्री प्रदेश की जनता को संबोधित भी करते हैं. कुछ घंटों के लिए ही सही पर असली मुख्यमंत्री का ट्रीटमेंट मिलना रामचन्द्र के लिए गर्व से कम नहीं है.

ये भी पढ़ें-

कांग्रेस में गड़बड़झाला? 2019 में भेज दिए गए 2011 के फॉर्म

पिकनिक पर गया डॉन बॉस्को स्कूल का छात्र नदी में डूबा
First published: August 13, 2019, 2:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...