होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /सिद्धा पर्वत पर धर्म सभा : सबने लिया चित्रकूट को खनन मुक्त बनाने का संकल्प

सिद्धा पर्वत पर धर्म सभा : सबने लिया चित्रकूट को खनन मुक्त बनाने का संकल्प

सिद्धा पर्वत में खनिज लीज स्वीकृत होने के बाद सियासत शुरू हुई थी. कांग्रेस पार्टी के साथ साथ बीजेपी के चर्चित विधायक नारायण त्रिपाठी भी इसके विरोध में उतर आए थे.

सिद्धा पर्वत में खनिज लीज स्वीकृत होने के बाद सियासत शुरू हुई थी. कांग्रेस पार्टी के साथ साथ बीजेपी के चर्चित विधायक नारायण त्रिपाठी भी इसके विरोध में उतर आए थे.

Satna : चित्रकूट के कामतानाथ प्रथम मुखारबिंद से शुरू हुई रामपथ गमन यात्रा का आज सिद्दा पहाड़ में समापन हुआ. 27 तारीख से ...अधिक पढ़ें

सतना. सिद्दा पर्वत पर खनन के मुद्दे पर भगवान राम की तपोभूमि में सियासत गर्म है. राम की तपोभूमि चित्रकूट से राम पथ गवन विकास के लिए यात्रा निकाली गई और अस्ति समूह सिद्दा पर्वत में इसका समापन हुआ. सिद्दा पर्वत में आज धर्म सभा का आयोजन हुआ, जिसमें बड़ी संख्या में साधु संत और आम जन शामिल हुए. सबने एक सुर से चित्रकूट की रक्षा का संकल्प लिया.

चित्रकूट के कामतानाथ प्रथम मुखारबिंद से शुरू हुई रामपथ गमन यात्रा का आज सिद्दा पहाड़ में समापन हुआ. 27 तारीख से इस यात्रा की शुरुआत हुई थी और आज 30 तारीख को अस्ति समूह सिद्दा पहाड़ में खत्म हुई. यहां धर्म सभा हुई जिसमें चित्रकूट क्षेत्र के मठ मंदिरों के साधु संत के साथ आम जन मानस शामिल हुआ. सबने एक सुर में चित्रकूट क्षेत्र के संरक्षण और संवर्धन का संकल्प लिया. सबने चित्रकूट को खनन मुक्त क्षेत्र बनाने की बात कही.

चित्रकूट में धार्मिक पर्यटन की मांग
सिद्धा पर्वत में खनिज लीज स्वीकृत होने के बाद सियासत शुरू हुई थी. कांग्रेस पार्टी के साथ साथ बीजेपी के चर्चित विधायक नारायण त्रिपाठी भी इसके विरोध में उतर आए थे. उसके बाद सरकार ने तीनों खनिज लीज निरस्त कर दी थीं.इसके बावजूद अब इस मामले को लेकर सियासत चल रही है. कांग्रेस विधायक सिद्दा पर्वत पर राम जानकी और लक्ष्मण जी की मूर्ति स्थापित कर 84 कोसीय परिक्रमा के विकास की मांग की है. वनवासी राम के तपोभूमि के स्थलों को विकसित कर चित्रकूट क्षेत्र को धार्मिक पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने की मांग की जा रही है.

अपनी ही सरकार का विरोध
मैहर से भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी पद यात्रा कर चित्रकूट क्षेत्र को खनन मुक्त करने और धार्मिक जगहों को विकसित करने की मांग कर रहे हैं. साधु संत भी उनके समर्थन में खड़े हैं और भोपाल दिल्ली तक लड़ाई लड़ने का संकल्प लिया.

Tags: Madhya pradesh latest news, Satna news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें