दिग्विजय बोले- साध्वी प्रज्ञा ने मसूद अजहर को दे दिया होता श्राप तो नहीं करनी पड़ती सर्जिकल स्ट्राइक
Bhopal News in Hindi

दिग्विजय बोले- साध्वी प्रज्ञा ने मसूद अजहर को दे दिया होता श्राप तो नहीं करनी पड़ती सर्जिकल स्ट्राइक
दिग्विजय सिंह (फाइल फोटो)

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर प्रहार करते हुए दिग्विजय सिंह ने सवाल किया कि देश में जब पुलवामा, पठानकोट और उरी जैसे आतंकी हमले हुए तब वह कहां थे?

  • Share this:
मध्य प्रधेश में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने अपनी प्रतिद्वंद्वी और बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर वह पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर को श्राप दे देतीं, तो सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत ही नहीं पड़ती.

राजधानी भोपाल में शनिवार को एक जनसभा को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा, 'प्रज्ञा ठाकुर का कहना है कि उन्होंने एटीएस प्रमुख हेमंत करकरे को श्राप दिया था. अगर वह पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को भी श्राप दे देतीं, तो उसे सर्जिकल स्ट्राइक की कोई जरूरत नहीं पड़ती.'

ये भी पढ़ें:- दिग्विजय सिंह ने पूछा- गूगल पर 'फेंकू' टाइप करो तो किसकी फोटो आती है?



वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि अगर आतंकी नर्क में भी छिपे होंगे, तो भी उनको छोड़ा नहीं जाएगा. दिग्विजय सिंह ने उनसे पूछा कि देश में जब पुलवामा, पठानकोट और उरी हमले हुए तब वह कहां थे? तब वे इस तरह के हमलों से छुटकारा पाने में सक्षम क्यों नहीं थे?
ये भी पढ़ें:- Lok Sabha Elections : दिग्विजय सिंह बनना चाहते हैं 'बर्रुकट' भोपाली

दिग्विजय सिंह ने आगे कहा कि हिंदू-मुस्लिम-सिख-ईसाई भाई हैं. ये लोग कहते हैं कि हिंदुओं को एकजुट होना चाहिए क्योंकि वे खतरे में हैं. उन्होंने कहा कि इस देश में मुस्लिमों द्वारा 500 वर्षों तक शासन किया गया. किसी भी धर्म को कोई नुकसान नहीं हुआ. इसलिए उन लोगों से सावधान रहे जो धर्म बेचते हैं.

ये भी पढ़ें:- चुनावी जिम्मेदारियों से उमा भारती ने ली राहत, डेढ़ साल के लिए जा रहीं गंगा यात्रा पर

दिग्विजय ने बीजेपी के खिलाफ अपने तेवर तीखे रखते हुए कहा कि भोपाल से उनकी उम्मीदवारी की घोषणा होने पर मामा (शिवराज सिंह चौहान) घबरा गए. उमा भारती ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया, गौर ने कहा कि वह ठीक नहीं हैं. नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख से एक दिन पहले उन्होंने प्रज्ञा ठाकुर की उम्मीदवारी की घोषणा की.

ये भी पढ़ें:-  उमा भारती बोलीं- साध्वी प्रज्ञा ठाकुर महान संत, उनके मुकाबले मैं साधारण मूर्ख प्राणी

बहरहाल, भोपाल में आगामी 12 मई को वोटिंग होगी. वहीं वोटों की गिनती 23 मई को होगी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading