दिग्विजय सिंह ने बताईं मॉब लिंचिग की वजहें, बीजेपी और RSS को लेकर कही ये बात

दिग्‍विजय सिंह ने बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की विचारधारा को मॉब लिंचिंग की वजह बताया है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: July 7, 2019, 8:42 AM IST
दिग्विजय सिंह ने बताईं मॉब लिंचिग की वजहें, बीजेपी और RSS को लेकर कही ये बात
दिग्विजय सिंह (फाइल फोटो)
News18 Madhya Pradesh
Updated: July 7, 2019, 8:42 AM IST
मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने मॉब लिंचिंग को लेकर बड़ा बयान दिया है. कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता ने मॉब लिंचिग की वजह बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की विचारधारा को बताया है. उन्होंने कहा इंदौर के विधायक आकाश विजयवर्गीय का बयान ‘पहले आवेद, निवेद और फिर दे-दनादन’ इस तरह के माइंडसेट वाले लोगों का परिचायक है.

दिग्विजय सिंह ने कहा कि देश में बढ़ रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं की दो वजहें हैं. पहला यह कि समय से न्याय नहीं मिलने की वजह से लोग गुस्से में हैं. बकौल कांग्रेस नेता, दूसरा कारण बीजेपी और आरएसएस द्वारा लोगों को दी जा रही शिक्षा है. आप लोगों ने देखा होगा कि आकाश विजयवर्गीय ने कहा कि 'हमें अवदान, निवेदन और फिर दे-दना-दन सिखाया गया है'. यह उसी मानसिकता का परिणाम है.



कैलाश विजयवर्गीय के दिए संस्कार को आगे बढ़ा रहे आकाश-
Loading...

इसके पहले दिग्विजय सिंह ने शनिवार को 'बैटकांड' पर तंज कसते हुए कहा था कि कैलाश विजयवर्गीय ने जो संस्कार दिए हैं, उनका विधायक बेटा उसी को आगे बढ़ा रहा है. उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रज्ञा ठाकुर मामले में सिर्फ नोटिस ही दिया गया, आगे कोई कार्रवाई नहीं हुई. आकाश को भी सिर्फ नोटिस ही दिया जाएगा. इनकी कथनी और करनी में बहुत अंतर है. बता दें कि आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर नगर निगम की टीम में शामिल अधिकारियों को बैट से पीटा था.

ये भी पढ़ें- ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव पद से दिया इस्तीफा

 भी पढ़ें- 'किडनैपिंग की घटनाओं के लिए लड़कियों की आज़ादी जिम्मेदार'

ये भी पढ़ें- 'कैलाश विजयवर्गीय के दिए संस्कार को ही आगे बढ़ा रहा बेटा'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 7, 2019, 8:15 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...