मध्य प्रदेश में टेरर फंडिंग : दिग्विजय सिंह ने कहा- शिवराज सिंह चौहान,धिक्कार है तुम्हें

पुलिस भोपाल में भी एक ऐसे ही रैकेट का खुलासा कर चुकी है जो समानांतर टेलिफोन एक्सचेंज चलाकर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को जानकारी मुहैया कराता था. इस रैकेट में बीजेपी युवा मोर्चा का नेता ध्रुव सक्सेना शामिल पाया गया था

News18 Madhya Pradesh
Updated: August 26, 2019, 10:54 AM IST
मध्य प्रदेश में टेरर फंडिंग : दिग्विजय सिंह ने कहा- शिवराज सिंह चौहान,धिक्कार है तुम्हें
दिग्विजय सिंह
News18 Madhya Pradesh
Updated: August 26, 2019, 10:54 AM IST
आतंकवाद के एमपी कनेक्शन को लेकर मध्य प्रदेश का सियासी माहौल गरमाया हुआ है. कांग्रेस उन चेहरों को बेनकाब करने की रणनीति बना रही है जिनका टेरर के साथ-साथ बीजेपी या उसके समर्थक संगठनों के साथ कनेक्शन रहा है. पार्टी नेता दिग्विजय सिंह ने सीधे-सीधे शिवराज सिंह चौहान को निशाने पर लिया है औऱ उनसे पूछा है कि बताओ शिवराज देशद्रोही कौन है.

देशद्रोही कौन?

सतना में टेरर फंडिंग रैकेट का खुलासा होने के बाद कांग्रेस इसमें फंसे ऐसे चेहरों की कुंडली निकालने में जुट गई है जिनका किसी भी रूप में बीजेपी या उसके समर्थक संगठनों के साथ जुड़ाव रहा है. पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने टेरर फंडिंग केस में फंसे आरोपियों की जमानत को लेकर सीधे बीजेपी नेताओं ख़ासतौर से शिवराज सिंह चौहान की देशभक्ति पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं. दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया है. इसमें उन्होंने लिखा है  ISI पाकिस्तान के लिए ख़ुफ़िया गिरी करते हुए भाजपा के नेताओं को NSA में गिरफ़्तार कर सख़्त सज़ा मिलनी चाहिए. वो आगे लिखते हैं कि धिक्कार है शिवराज तुम्हें.तुम्हारे चेले पाकिस्तान ISI के एजेंट निकले. जिन्हें तुमने ज़मानत पर छुड़वाने में मदद की. अब बताओ कि देशद्रोही कौन है ?


Loading...

टेरर का सतना कनेक्शन

भोपाल एटीएस ने सतना में टेरर फंडिंग रैकेट का खुलासा करते हुए शातिर आरोपी बलराम सहित 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया था. बलराम सिंह इससे पहले 2017 में भी टेरर कनेक्शन में गिरफ्तार हो चुका था लेकिन बाद में उसे कोर्ट से जमानत मिल गई थी. कांग्रेस का आरोप है कि बलराम का कनेक्शन बजरंग दल से रहा है. यही वजह है कि उसके खिलाफ तब की सरकार ने सख्ती नहीं बरती.

बीजेपी नेताओं पर उंगली
सतना से पहले पुलिस भोपाल में भी एक ऐसे ही रैकेट का खुलासा कर चुकी है जो समानांतर टेलिफोन एक्सचेंज चलाकर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को जानकारी मुहैया कराता था. इस रैकेट में बीजेपी युवा मोर्चा का नेता ध्रुव सक्सेना शामिल पाया गया था. कांग्रेस अब ऐसे ही चेहरों की कुंडली दोबारा निकालकर कर बीजेपी को घेरने की तैयारी में है. ऐसे में बड़ा सवाल ये कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सियासत कहीं रोड़ा तो नहीं बन जाएगी. (भोपाल से जितेन्द्र शर्मा के साथ शरद श्रीवास्तव की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें-कमलनाथ को फंड के लिए मोदी सरकार से आस!

कमीशन की खातिर पाकिस्तान को बेच दी देश की खुफिया जानकारी

MP में टेरर फंडिंग के पाकिस्तान से जुड़े तार! 5 लोग गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 10:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...