Home /News /madhya-pradesh /

भीमा कोरेगांव हिंसा: दिग्विजय सिंह बोले- बीजेपी और RSS मुझसे डरते हैं

भीमा कोरेगांव हिंसा: दिग्विजय सिंह बोले- बीजेपी और RSS मुझसे डरते हैं

दिग्विजय सिंह (फाइल फोटो)

दिग्विजय सिंह (फाइल फोटो)

दिग्विजय सिंह ने न्यूज18 से बातचीत में कहा है कि जिस नंबर का ज़िक्र हो रहा है वो राज्यसभा की पोर्टल पर सार्वजनिक है औऱ उसका वो बीते चार साल से इस्तेमाल नहीं करते

भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में पुणे पुलिस के द्वारा की गई जांच में अपने मोबाइल नंबर आने के मामले में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और  कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बयान दिया है. दिग्विजय सिंह ने न्यूज18 से बातचीत में कहा है कि आरएसएस औऱ बीजेपी उनसे डरती है इसलिए झूठे केस में फंसाती है. जिस नंबर का ज़िक्र हो रहा है वो राज्यसभा की पोर्टल पर सार्वजनिक है औऱ उसका वो बीते चार साल से इस्तेमाल नहीं करते. (इसे पढ़ें- भीमा कोरेगांव हिंसा: दिग्‍विजय सिंह पर पुलिस को शक, कर सकती है पूछताछ)

दिग्विजय सिंह ने कहा, 'पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि दिग्विजय सिंह देश द्रोही हैं. एमपी पुलिस ने कहा कि कोई सबूत नहीं. शिवराज सिहं चौहान संवैधानिक पद पर रहते हुए पूर्व मुख्यमंत्री पर झूठा आरोप क्यों लगाया. दिग्विजय सिंह से बीजेपी औऱ आरएसएस डरती है. इसलिए किसी ना किसी प्रकरण में मेरे खिलाफ आऱोप बनाती है. जिस फोन नंबर का वो ज़िक्र कर रहे हैं वो राज्यसभा को पोर्टल पर सार्वजनिक है. जिसका मैंने बीते चार साल से उपयोग बंद कर दिया है.'

दरअसल, बताया जा रहा है कि भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में पुणे पुलिस मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह से पूछताछ कर सकती है. पुणे पुलिस ने माना है कि माओवादी समर्थक नेताओं के मोबाइल नंबरों की जांच के दौरान एक नंबर मिला था. अब पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि यह नंबर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का ही है.

पुणे पुलिस के डीसीपी सुहास बावचे ने कहा कि यह जांच बहुत संवेदनशील और हाई प्रोफाइल लोगों से जुड़ी है. उन्होंने कहा कि हम इस मामले में सभी ऐंगल से पड़ताल कर रहे हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो हम दिग्विजय सिंह को जांच में जुड़ने के लिए समन भी कर सकते हैं.

यह पढ़ें- यही है लोकतंत्र की ताक़त : चायवाला पीएम, किसान का बेटा सीएम - शिवराज

Tags: Bhopal news, Digvijay singh, Madhya pradesh elections, Madhya pradesh news, Mumbai police, Pune

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर