दिग्विजय समर्थक विधायक की CM कमलनाथ को 'अजीबोगरीब' सलाह, बोले- छत पर एक कौआ मारकर टांगना जरूरी हो गया है

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 4, 2019, 10:29 PM IST
दिग्विजय समर्थक विधायक की CM कमलनाथ को 'अजीबोगरीब' सलाह, बोले- छत पर एक कौआ मारकर टांगना जरूरी हो गया है
कंसाना ने दिग्विजय सिंह का समर्थन करते हुए उमंग सिंघार पर निशाना साधा.

सिंह-सिंघार विवाद में बुधवार को एंट्री हुई मुरैना के सुमावली से कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक एंदल सिंह कंसाना की. कंसाना ने दिग्विजय सिंह का समर्थन करते हुए उमंग सिंघार पर जमकर निशाना साधा.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्‍विजय सिंह (former Chief Minister Digvijay Singh) और वन मंत्री उमंग सिंघार(Forest Minister Umang Singhar) एपिसोड में हर रोज कुछ ना कुछ नया सुनने या फिर देखने को मिल रहा है. हालांकि सीएम द्वारा तलब किए जाने के बाद सिंघार के तेवर नरम नजर आ रहे हैं, लेकिन दूसरी तरफ दिग्विजय समर्थक विधायक एंदल सिंह कंसाना (Aidal Singh Kansana)ने सिंघार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. वहीं इस सबके बीच सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायकों ने इमरजेंसी बैठक बुलाने की मांग रख दी है.

दिग्‍विजय सिंह के समर्थक विधायक ने कही ये बात
सिंह-सिंघार विवाद में बुधवार को एंट्री हुई मुरैना के सुमावली से कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक एंदल सिंह कंसाना की. कंसाना ने दिग्विजय सिंह का समर्थन करते हुए उमंग सिंघार पर जमकर निशाना साधा. उन्‍होंने तो यहां तक कह दिया कि जब छत पर बहुत सारे कौवे मंडरा रहे हों तो एक कौआ मारकर छत पर टांग देना चाहिए. कंसाना के मुताबिक कांग्रेस की बेहतरी के लिए एक दो मंत्रियों को बर्खास्त करना पड़ेगा, क्योंकि कुछ मंत्री जिस डाल पर बैठे हैं उसी को काटने में लगे हैं. 15 साल में बीजेपी दिग्विजय सिंह का कुछ नहीं बिगाड़ पाई, लेकिन पार्टी के छुटभैये नेता उन पर सवाल उठा रहे हैं.

शेरा ने उठाई इमरजेंसी मीटिंग की मांग

इस विवाद के बीच सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा भैया भी सामने आए. उन्‍होंने सोनिया गांधी से मांग करते हुए कहा कि तुरंत इमरजेंसी मीटिंग बुलाना चाहिए और सभी नेताओं से बात करके मामले को शांत कराना चाहिए. सुरेंद्र सिंह के मुताबिक इस वक्त कांग्रेस पार्टी में जो हालात बने हैं उससे सरकार को उनके समर्थन देने पर प्रश्नचिन्ह लग रहा हैं. जबकि विवाद की वजह से जनता में सरकार की छवि को लेकर गलत मैसेज जा रहा है.

ये भी पढ़ें-अपने अंतर्कलह से गिर जाएगी कमलनाथ सरकार-नरेन्द्र सिंह तोमर

बड़ा खुलासा: 400 करोड़ के मालिक रिटायर्ड SDO सुरेश उपाध्याय के रोहाणी परिवार से थे व्यापारिक संबंध!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 10:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...