दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ सरकार पर उठाए सवाल, कहा- इसकी नहीं थी जरूरत!

कमलनाथ सरकार ने भले ही मंदसौर गोलीकांड और नर्मदा के पास लगाए गए पेड़ों को लेकर पिछली शिवराज सरकार को क्लीन चिट दे दी है लेकिन उस पर खुद उनकी पार्टी के नेता दिग्विजय सिंह ने सवाल उठाए हैं

News18Hindi
Updated: February 19, 2019, 3:26 PM IST
दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ सरकार पर उठाए सवाल, कहा- इसकी नहीं थी जरूरत!
दिग्विजय सिंह File Photo
News18Hindi
Updated: February 19, 2019, 3:26 PM IST
मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने भले ही मंदसौर गोलीकांड और नर्मदा के पास लगाए गए पेड़ों को लेकर पिछली शिवराज सरकार को क्लीन चिट दे दी है लेकिन उस पर खुद उनकी पार्टी के नेता दिग्विजय सिंह ने सवाल उठाए हैं. दिग्विजय सिंह नेकहा कि कमलनाथ सरकार को इन मामलों में पिछली शिवराज सरकार को क्लीन चिट नहीं देना चाहिए था.

न्यूज एजेंसी ANI को बयान देते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि पहले मुख्यमंत्री ने नर्मदा के पास लगाए गए पेड़ों पर क्लीन चिट दी अब गृह मंत्री ने मंदसौर गोलीकांड पर बीजेपी को क्लीनचिट दे दी. इसकी जरूरत नहीं थी. उन्होंने कहा कि मैंने नर्मदा यात्रा की है और मैंने देखा है कि वहां लगाए गए पेड़ों को लेकर भ्रष्टाचार हुआ है.

दिग्विजय की सिद्धू को सलाह- अपने दोस्त इमरान को समझाइए

दरअसल, मध्य प्रदेश के बहुचर्चित मंदसौर गोलीकांड पर कमलनाथ सरकार के एक बयान पर सियासत गरमा गई है. सरकार में गृह मंत्री बाला बच्चन ने बयान दिया है कि मंदसौर में आत्मरक्षा में गोलियां चलाई गईं थीं. उन्होंने कहा कि जब तक सरकार जांच के आधार पर संतुष्ट नहीं हो जाएगी तब तक कार्रवाई नहीं होगी. हालांकि गृह मंत्री ने कहा कि अगर कोई दोषी सामने आता है तो उसे सजा जरूर मिलेगी.

उधर मंदसौर गोलीकांड पर कांग्रेस के यूटर्न के बाद सरकार जहां बैकफुट पर है तो वहीं अब विपक्ष एक बार फिर हमलावर हो गया है. नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि कांग्रेस ने वोट जुगाड़ने के लिए विधानसभा चुनाव से पहले जनता से झूठ बोला.

यह पढ़ें- मंदसौर गोलीकांड: बैकफुट पर कांग्रेस सरकार, बीजेपी ने बोला हमला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 19, 2019, 2:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...