लाइव टीवी

कमलनाथ सरकार के माफिया-सफाई अभियान से 'बेचैन' हुआ कांग्रेस का ये बड़ा नेता, उठे सवाल

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 15, 2019, 10:39 PM IST
कमलनाथ सरकार के माफिया-सफाई अभियान से 'बेचैन' हुआ कांग्रेस का ये बड़ा नेता, उठे सवाल
कमलनाथ सरकार के माफिया के खिलाफ अभियान को लेकर दिग्विजय सिंह ने लिखी चिट्ठी.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने माफिया-सफाई (Mafia) अभियान को लेकर सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) को दी सलाह. समिति बनाकर जांच कराने के बाद कार्रवाई के संदर्भ में लिखे पत्र से प्रदेश में तेज हुई सियासत.

  • Share this:
भोपाल. मुख्यमंत्री कमलनाथ (CM Kamalnath) के निर्देश पर प्रदेश में माफिया के खिलाफ चल रही मुहिम (Action-on-Mafia) के बीच पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के पत्र को लेकर कई सवाल उठने लगे हैं. जब राजधानी भोपाल (Bhopal) समेत हर जिले में माफिया राज का खात्मा किया जा रहा है, तो दिग्विजय सिंह को पत्र लिखकर कमलनाथ को सलाह देने की क्या जरूरत है. दरअसल, दिग्विजय ने चिट्ठी लिखकर अवैध कॉलोनियों पर कार्रवाई के लिए चार सदस्यीय टीम बनाकर जांच कराने के बाद रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई करने की मांग की है.

दो दिन से चल रही कार्रवाई
राजधानी भोपाल में बीते दो दिनों से माफिया के खिलाफ कार्रवाई चल रही है. पहले दिन कॉलोनियों में हेराफेर, धोखाधड़ी और अवैध कब्जे के साथ निर्माण करने वाले माफिया घनश्याम राजपूत के खिलाफ कार्रवाई की गई. दूसरे दिन भी कई रसूखदारों के खिलाफ कार्रवाई की गई. इस कार्रवाई के बीच दिग्विजय सिंह ने सीएम को पत्र लिखकर कहा, 'मैं चाहता हूं कि भोपाल में पिछले 20 सालों में आवासीय क्षेत्रों में बनी कॉलोनियों की चार सदस्यीय समिति बनाकर जांच कराई जाए. इस समिति की रिपोर्ट क आधार कानून तोड़ने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए. ऐसे बिल्डर्स और भू-माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होने से भविष्य का भोपाल नियम और प्रक्रियाओं के अनुरूप सही आकार ले सकेगा.' दिग्विजय सिंह की मांग है कि चार सदस्यीय समिति में अपर आयुक्त राजस्व, अपर आयुक्त नगर निगम, जिला पंजीयक और जिला उप पंजीयक सहकारिता को शामिल किया जाए.

जांच के बिंदु को भी बताया

दिग्विजय सिंह ने समिति को जांच के बिंदु तक बताए हैं. उनके अनुसार समिति 20 वर्षों में बनी कॉलोनियों की अनुमतियां और प्लॉट बेचने की जांच करेगी. साथ ही उन्होंने कॉलोनी निर्माण की अनुमति, जमीन की स्थिति, पट्टों की जांच, अवैध कॉलोनियों की पहचान, कॉलोनाईजर्स के लायसेंस और उन पर दर्ज केस, गृह निर्माण समितियों की स्थिति, जिला पंजीयक में अवैध कॉलोनियों और शासकीय जमीनों पर रजिस्ट्री के प्रकरण, शासकीय जमीन पर कब्जा और निर्माण समेत 13 बिंदुओं पर जांच करने की मांग की है.

जांच समिति के गठन को याद दिलाया
दिग्विजय सिंह ने अपने पत्र के जरिए सीएम कमलनाथ को जांच समिति गठित करने की याद दिलाई है. उन्होंने लिखा कि 25 लाख से अधिक रहवासियों को जमीनों, प्लॉटों और पट्टों के विवाद से छुटवाकार दिलाने के लिए जांच समिति गठित किया जाना प्रस्तावित है. प्रस्तावित समिति को उक्त संभावित बिंदुओं पर जांच करने के बाद भविष्य में आवासीय क्षेत्र में क्या-क्या सतर्कता रखी जानी चाहिए, इस संबंध में शासन को सुझाव प्रस्तुत होगी. इसके आधार पर शासन सख्त नियम बनाकर भोपालवासियों को मकान, प्लॉट खरीदनें में होने वाली धोखाधड़ी से बच सकेंगे.ये भी पढ़ें -

'कॉर्न फेस्टिवल' में बोले CM कमलनाथ, किसानों के लिए खोलेंगे सीधा मार्केट

कलेक्टर का अनोखा आदेश- बंदूक का लाइसेंस चाहिए तो गौशाला में देने होंगे 10 कंबल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2019, 10:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर