• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • व्यापमं घोटाला : दिग्विजय का आरोप, सीएम शिवराज को बचाने के लिए दस्तावेजों से हुई छेड़छाड़

व्यापमं घोटाला : दिग्विजय का आरोप, सीएम शिवराज को बचाने के लिए दस्तावेजों से हुई छेड़छाड़

File Photo

File Photo

 

  • News18
  • Last Updated :
  • Share this:
     

    कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने व्यापमं घोटाले को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को घेरने की कोशिश की हैं. दिग्विजय ने शिवराज पर दस्तावेजों से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. उन्होंने इस संबंध में सीबीआई से शिकायत की है.

    दिग्विजय ने व्यापमं मामले की जांच कर रही सीबीआई के डायरेक्टर को 82 पेज का एक पत्र लिखा हैं. पत्र में शिवराज सिंह चौहान के अलावा इंदौर पुलिस और इंदौर क्राइम ब्रांच को घेरने की कोशिश की गई हैं. पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि इंदौर पुलिस ने दस्तावेजों और साक्ष्यों के साथ छेड़छाड़ की है. दिग्विजय का आरेप है कि ने एसटीएफ ने ग़लत तरीक से जांच कर व्यापमं घोटाले से जुड़े कई प्रमाणों को नष्ट कर दिया है.

    SIT और STF पर उठाए सवाल

    दिग्विजय ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर ये पत्र शेयर करते हुए लिखा है कि व्यापमं मामले की जांच में एसआईटी और एसटीएफ ने घोटाले को उजागर करने वाले लोगों के बयान को तरजीह नहीं दी. व्हिसल ब्लोअर और फोरेंसिक रिपोर्ट की अनदेखी की गई. अपने पत्र में दिग्विजय ने लिखा, 'एसआईटी और एसटीएफ ने सच्चाई से आंख मूंदी है. दोनों संगठनों ने तथ्यों को नजरअंदाज किया है.'

    शिवराज को बचाना मक़सद

    पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय का आरेप है कि एसटीएफ ने एक्सल शीट से छेडछाड़ कर मुख्यमंत्री शिवराज को बचाने की पूरी कोशिश की है. सीएम शिवराज और नज़दीकियों को बचाना स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) का असल मकसद था. उन्होंने कहा कि हमने कोर्ट से व्यापमं घोटाले की जांच के लिए सीबीआई जांच की मांग की थी और कोर्ट ने वह मांग सुन ली. दिग्विजय का कहना है कि, घोटाले की जिन मुद्दों पर गलत जांच हुई है, उसी को लेकर हमने सीबीआई डायरेक्टर को पत्र सौंपा है.

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज