MP: PCC चीफ को लेकर कमलनाथ, सिंधिया के बाद अब दिग्विजय गुट भी हुआ सक्रिय

मध्य प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर पार्टी तीन गुटों में बंट चुकी है. ऐसे में पार्टी हाईकमान के लिए प्रदेश अध्‍यक्ष पद के लिए नाम की घोषणा करने में मुश्किल पेश आ रही है.

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 28, 2019, 12:22 PM IST
MP: PCC चीफ को लेकर कमलनाथ, सिंधिया के बाद अब दिग्विजय गुट भी हुआ सक्रिय
MP: PCC चीफ को लेकर कमलनाथ और सिंधिया के बाद दिग्विजय सिंह का गुट भी सक्रिय हो गया है. (फाइल फोटो)
Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 28, 2019, 12:22 PM IST
मध्य प्रदेश में कांग्रेस प्रमुख (PCC Chief) को लेकर पार्टी कई गुटों में बंट गई है. प्रदेश नेतृत्व की कमान को लेकर गुटबाजी (Groupism) चरम पर है. ऐसे में मध्य प्रदेश में कांग्रेस का अध्यक्ष कौन होगा, इसको लेकर फैसला भी अटक गया है. बता दें कि सीएम कमलनाथ (CM Kamal Nath) और ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के बाद अब दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) का गुट भी प्रदेश में सक्रिय (Active) हो गया है.

पार्टी नहीं तय कर पा रही पीसीसी चीफ का नाम

प्रदेश में कांग्रेस के नेतृत्व की लड़ाई तेज हो गई है. पीसीसी चीफ को लेकर कांग्रेस अब तक सिर्फ दो गुटों में बंटी हुई थी, लेकिन अब तीसरा गुट (Third Group) यानी दिग्विजय सिंह भी मैदान में आ गए हैं. लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) में मिली हार (defeat) के बाद कांग्रेसियों में उत्साह (Enthusiasm) भरने के लिए पार्टी को अब नए नेतृत्व का इंतजार है. लेकिन, नेताओं में मची खींचतान के कारण पार्टी पीसीसी चीफ का नाम तय नहीं कर पा रही है.

भोपाल से लेकर दिल्ली तक समर्थन जुटाने में लगे कार्यकर्ता

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष को लेकर नेताओं से जुड़े कार्यकर्ता भोपाल (Bhopal) से लेकर दिल्ली (New Delhi) तक लॉबिंग (Lobbying) करने में जुटे हैं. अब तक यह माना जा रहा था कि कांग्रेस में कमलनाथ के पंसदीदा चेहरे को दिग्विजय का साथ मिलेगा, लेकिन सीएम कमलनाथ के दिल्ली दौरे और प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया (deepak babaria) के पार्टी हाईकमान के समक्ष सिंधिया के नाम को आगे बढ़ाने की खबरों के बाद दिग्विजय खेमा सक्रिय हो गया है. पूर्व सीएम का खेमा अजय सिंह (Ajay Singh) और मंत्री गोविंद सिंह (Minister Govind Singh) के नाम के साथ अपनी दावेदारी पेश कर रहा है.

कमलनाथ के करीबी बाला बच्चन की दावेदारी सबसे मजबूत

इधर, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को प्रदेश कांग्रेस की कमान नहीं सौंपे जाने पर सिंधिया समर्थक मंत्री और नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा (Resignation) देने की चेतावनी (Warning) दी है. वहीं, कमलनाथ समर्थक (Kamal Nath Supporter) ये साफ कर चुके हैं कि पीसीसी चीफ वही चेहरा होगा जो मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ बेहतर तालमेल के साथ पार्टी को चला सके. इसके लिए कमलनाथ के करीबी बाला बच्चन (Bala Bachchan) परफेक्ट चेहरा होंगे.
Loading...

कांग्रेस-congress

PCC चीफ को लेकर कमलनाथ और सिंधिया के बाद दिग्विजय सिंह का गुट भी सक्रिय हो गया है.खींचतान से पार्टी हाईकमान भी परेशान

पीसीसी चीफ को लेकर मची खींचतान के बीच प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया ने दिल्ली में पार्टी हाईकमान को संभावित नामों की सूची सौंपी है. इसमें सिंधिया का नाम सबसे ऊपर बताया जा रहा है. बहरहाल, लोकसभा चुनाव 2019 के बाद पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके कमलनाथ अभी भी दोहरी जिम्मेदारी में हैं. वहीं, प्रदेश में पार्टी के दिग्गज नेताओं के बीच पीसीसी चीफ के पद को लेकर मची खींचतान से पार्टी हाईकमान भी परेशान है. यही कारण है कि इतना समय बीत जाने के बाद भी पार्टी पीसीसी चीफ का नाम तय नहीं कर पा रही है.

ये भी पढ़ें:- तमिलनाडु में बंधक बने MP के 3 मजदूर हुए आजाद 

'शिवराज' पर भारी 'कमलनाथ', नशे के कारोबार पर कसता शिकंजा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 10:07 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...