होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /देखिए दिवाली पर दिव्यांग बच्चों की कला के रंग : यही इनकी दिव्यता और सबसे बड़ी ताकत

देखिए दिवाली पर दिव्यांग बच्चों की कला के रंग : यही इनकी दिव्यता और सबसे बड़ी ताकत

उमंग सोसाइटी के इन बच्चों ने तीन महीने पहले सजावट का सामान बनाना शुरूकर दिया था.

उमंग सोसाइटी के इन बच्चों ने तीन महीने पहले सजावट का सामान बनाना शुरूकर दिया था.

Colors Of Happiness. भोपाल के दिव्यांग बच्चों ने दीवाली पर अपनी कला से खुशियों के रंग भर दिए हैं. उमंग सोसाइटी के इन बच ...अधिक पढ़ें

भोपाल. दिव्यांग बच्चों ने कमजोरी को ताकत में बदलकर कला से कई लोगों की दिवाली रोशन कर दी है. इन बच्चों ने दिवाली पर खूबसूरत दिये, वुडन रंगोली, पेंटिंग्स, ग्रीटिंग्स बनाए हैं. जो लोगों को काफी पसंद आ रहे हैं. इन डेकोरेटिव आइटम्स की एग्जिबिशन भोपाल के बाजारों और मॉल्स में लगायी गयी है. यह बच्चे भोपाल की उमंग सोसायटी में आर्ट वर्क सीखते हैं.

खुद पर भरोसा और कुछ कर गुजरने की मजबूत इच्छाशक्ति आप में है, तो कोई भी चुनौती आपको अपनी मंजिल हासिल करने से नहीं रोक सकती. भोपाल के यह बच्चे दिव्यांग जरूर हैं लेकिन इन्होंने अपनी मेहनत के दम पर कला को इस कदर निखारा है कि इनके हम उम्र किसी भी सामान्य बच्चे से इनके बनाए हुए आर्ट पीस कहीं अधिक बेहतर नजर आते हैं. उमंग सोसायटी की संचालक दीप्ति पटवा ने बताया कि बच्चों ने दिवाली के लिए खास दीये, ग्रीटिंग्स, रंगोली, शुभ-लाभ बनाने का काम करीब 3 माह पहले ही शुरू कर दिया था. बच्चों को सजावट का ये सामान बनाने की ट्रेनिंग एक वर्कशॉप में दी गयी थी.

इस तरह दिव्यांग बच्चों को दी जाती है ट्रेनिंग
उमंग सोसायटी के दिव्यांग बच्चों में कई सारे बच्चे सुन और बोल नहीं सकते इसलिए इन्हें साइन लैंग्वेज के जरिए चीजों को बताया और समझाया जाता है. वहीं कुछ बच्चे मानसिक रूप से पूर्ण परिपक्व नहीं हैं. इन्हें किसी भी चीज की ट्रेनिंग देना थोड़ा कठिन जरूर होता है, लेकिन उसके बावजूद यह बच्चे अपनी पूरी मेहनत और लगन से चीजों को सीखने और समझने की कोशिश करते हैं.

हर त्यौहार को धूम धाम से मनाते हैं बच्चे
यह बच्चे जन्म से ही कई सारी शारीरिक कमियों से जूझ रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद हर रोज अपनी जिंदगी को त्यौहार की तरह जीते हैं. कुछ नया सीखने की कोशिश करते हैं और अपनी कमजोरियों से लड़कर मजबूत बनते हैं. इन बच्चों ने उन सभी लोगों के लिए मिसाल कायम कि है जो छोटी-छोटी परेशानियां आने पर जीवन से हार मान जाते हैं. इन बच्चों के टीचर्स का कहना है कि दिव्यंगता ही इनकी दिव्यता और सबसे बड़ी ताकत है.

Tags: Bhopal latest news, Bhopal News Updates, Diwali Celebration, Diwali festival, Diwali Gift, Madhya pradesh latest news, Madhya Pradesh News Updates, MP news Bhopal

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें