कौन है झूठा - दिग्विजय सिंह या भदौरिया? किया जाए लाइ डिटेक्टर टेस्ट : डॉ. गोविंद सिंह
Bhopal News in Hindi

कौन है झूठा - दिग्विजय सिंह या भदौरिया? किया जाए लाइ डिटेक्टर टेस्ट : डॉ. गोविंद सिंह
डॉ. गोविंद सिंह की मांग, दिग्विजय सिंह (बाएं) और अरविंद भदौरिया (दाएं) का लाइ डिटेक्टर टेस्ट कराया जाए.

दरअसल सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने आरोप लगाया था कि दिग्विजय सिंह ने उन्हें खरीदने की कोशिश की. डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि इन आरोपों की सच्चाई जानने के लिए दोनों नेताओं का लाई डिटेक्टर टेस्ट करा लेना चाहिए.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजनीति में बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) के बीच आरोप-प्रत्यारोप और जुबानी जंग का दौर तेज है. इसी कड़ी में एक सच उजागर करने के लिए कांग्रेस के कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री डॉ गोविंद सिंह (Dr. Govind Singh) ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) और बीजेपी सरकार में सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया (Arvind Singh Bhadoria) का लाइ डिटेक्टर टेस्ट (Lie Detector Test) कराने की मांग कर डाली है. गोविंद सिंह की मानें तो अगर लाइ डिटेक्टर टेस्ट होगा तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा. दरअसल सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने अपने एक बयान में आरोप लगाया था कि दिग्विजय सिंह ने उन्हें खरीदने की कोशिश की. इस आरोप का जवाब देते हुए डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि वह दिग्विजय सिंह को जानते हैं, वे खरीद-फरोख्त की राजनीति में भरोसा नहीं करते. लेकिन फिर भी अगर अरविंद भदौरिया इस तरह के आरोप लगा रहे हैं तो फिर इन आरोपों की सच्चाई पता लगाने के लिए दोनों नेताओं का लाई डिटेक्टर टेस्ट करा लेना चाहिए, जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.

क्या है मामला ?

दरअसल मध्य प्रदेश सरकार में सहकारिता मंत्री बनने के बाद अरविंद भदौरिया पहली बार अपने क्षेत्र भिंड गए थे. वहां अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए उन्होंने न केवल दिग्विजय सिंह बल्कि कांग्रेस के कई और नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए. यहां तक कि वह अपने शब्दों की मर्यादा भी भूल गए. अरविंद भदौरिया ने आरोप लगाया था कि जब वह बंगलुरु में थे तब दिग्विजय सिंह ने उनके भाई और परिवार वालों को यहां परेशान करने की कोशिश की. यहां तक कि उन्होंने मुझे भी खरीदने की कोशिश की. उनके इन आरोपों और भाषा की मर्यादा को लेकर कांग्रेस ने सवाल खड़े किए हैं.



अरविंद भदौरिया VS दिग्विजय सिंह
अरविंद भदौरिया और दिग्विजय सिंह के बीच तनातनी तब से चली आ रही है. जब मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार गिराने और बीजेपी सरकार बनाने का खेल चल रहा था. कांग्रेस के जो बागी विधायक बंगलुरु में थे, उन्हें संभालने का जिम्मा तब अरविंद भदौरिया को दिया गया था और वह कई बार बंगलुरु गए थे. दिग्विजय सिंह ने तब खुले तौर पर जिन दो-तीन नेताओं के नाम कमलनाथ सरकार को गिराने की साजिश में लिए थे, उनमें से एक नाम अरविंद भदौरिया का भी था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज