'नफरत' ने ली मासूम वरुण की जान, मांगी थी रोटी तो दी मौत

मासूम वरुण की जान नफरत की वजह से गई. भोपाल के डीआईजी इरशाद वली ने बताया कि वरुण को मरा समझकर आरोपी महिला सुनीता सोलंकी ने उसे जिंदा टंकी में डाल दिया था. टंकी में दम घुटने से वरुण की मौत हुई.

Manoj Kumar Rathor | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 16, 2019, 11:44 PM IST
'नफरत' ने ली मासूम वरुण की जान, मांगी थी रोटी तो दी मौत
इरशाद वली, डीआईजी, भोपाल
Manoj Kumar Rathor | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 16, 2019, 11:44 PM IST
बैरागढ़ चिचली में नफरत ने मासूम वरुण की जान ले ली. वरुण ने पड़ोस में रहने वाली महिला से रोटी मांगी थी, लेकिन उस महिला ने वरुण को मौत दी. वरुण टंकी में तड़पता रहा और उसकी दम घुटने से दर्दनाक मौत हो गई. घर के सामने उसकी नृशंस हत्या की गई. पुलिस ने आरोपियों को पकड़कर अपनी पीट तो थपथपाई, लेकिन मासूम वरुण को जिंदा बचा नहीं सकी. घर का एकलौता चिराग बुझ गया और अब गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है.

मासूम वरुण, नफरत की वजह से जिसकी महिला ने ले ली जान


सुनीता सोलंकी, उसके बेटे शुभम को बनाया है आरोपी

वरुण हत्याकांड का खुलासा हो गया है. पुलिस ने पड़ोस में रहने वाली महिला सुनीता सोलंकी और उसके नाबालिग बेटे शुभम को आरोपी बनाया है. सुनीता के देवर महेश सोलंकी जो मामले में संदेही है, उससे भी पूछताछ की जा रही है. डीआईजी ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर इस हत्याकांड का 48 घंटे में पर्दाफाश करने का दम भरा. प्रेस नोट में पुलिस टीम की तारीफ की और उसे नगद पुरुस्कार देने का ऐलान भी किया. लेकिन सौ पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों की टीम उस घर के एकलौते चिराग को जिंदा ढूंढने में विफल साबित हुई.

सुनीता सोलंकी ने सब्जी में चींटी मारने वाली दवा मिलाकर खिलाई

डीआईजी इरशाद वली ने बताया कि वरुण पड़ोस में रहने वाली सुनीता से खाना मांगा था. सुनीता ने उसे रोटी तो दी, लेकिन वरुण के परिजनों से नफरत की वजह के चलते उसने सब्जी में चींटी मार दवा मिला दी. खाना खाने के बाद वरुण बेहोश हो गया. पुलिस के गांव में आने की वजह से महिला डर गई और उसने एक टंकी में बेहोश वरुण को डाल दिया. पुलिस की हलचल तेज होने पर उसने घटना वाले दिन रविवार की रात को ही उस टंकी से वरुण को निकालकर दूसरी टंकी में डाला और उसपर गेहूं डाल दिया. वरुण की दम घुटने से दर्दनाक मौत हो गई.

अपने घर में हुई चोरी के बाद वरुण के परिजनों से नफरत करती थी सुनीता
Loading...

पुलिस पूछताछ में आरोपी महिला ने बताया कि जून महीने में उसके घर से जेवर और नगदी चोरी हुई थी. उसे चोरी का शक वरुण के परिजनों पर था. यही वजह बताई जा रही है कि सुनीता वरुण के परिजन से नफरत करती थी. इसी नफरत के चलते उसने वरुण को मौत के घाट उतार दिया. मंगलवार की सुबह उसने वरुण के शव को घर से लगे बंद घर में जलाया. शुभम को इसलिए आरोपी बनाया गया, क्योंकि उसे रविवार को ही मां के द्वारा की गई घटना के बारे में पता चल गया था.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 11:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...