पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा के करीबियों की कभी भी हो सकती है गिरफ़्तारी!

बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्रा
बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्रा

इस केस में अब तक गिरफ्तार किए गए पांच आरोपियों की जमानत याचिका हाईकोर्ट खारिज कर चुका है

  • Share this:
मध्य प्रदेश में हुए 3000 हजार करोड़ के ई टेंडर घोटाला की जांच तेज़ी से बढ़ रही है. अब इस मामले में शिवराज सरकार में मंत्री रहे नरोत्तम मिश्रा के दो करीबी स्टाफ कर्मचारियों की जल्द ही गिरफ़्तारी हो सकती है. घोटाले में इनकी भूमिका की फिलहाल जांच हो रही है.
मंत्री के निज सहायक- 3000 हजार करोड़ के ई टेंडर घोटाला में पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा के करीबी निज सहायक निर्मल अवस्थी और वीरेंद्र पांडे की कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है.डीजी EOW के एन तिवारी ने ऐसे संकेत दिए हैं. डीजी के मुताबिक निर्मल अवस्थी और वीरेंद्र पांडे से लगातार पूछताछ की जा रही है. हालांकि उन्होंने बताया कि अभी तक की जांच में किसी अन्य  ब्यूरोक्रेट और राजनेता की भूमिका सामने नहीं आई है.
डीजी EOW के एन तिवारी ने बताया कि इस केस में अब तक गिरफ्तार किए गए पांच आरोपियों की जमानत याचिका हाईकोर्ट खारिज कर चुका है.दस जुलाई तक इन सभी आरोपियों के खिलाफ चालान पेश किया जाएगा.नरोत्तम मिश्रा के निज सहायक निर्मल अवस्थी और वीरेंद्र पांडेय से EOW दूसरी बार पूछताछ कर रहा है.इससे पहले उनसे दो दिन तक पूछताछ की गयी थी.दोनों पर टेंडर लेने वाली कंपनिया और ऑस्मो आईटी सॉल्यूशन के साथ सांठगांठ का आरोप है.

ये भी पढ़ें-तरीका गलत हो सकता है, पर उद्देश्य पवित्र था: नरोत्तम मिश्रा


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज