MP By-Election: सीएम शिवराज का बड़ा ऐलान, प्रदेश के सभी लोगों को मिलेगा कोरोना का टीका मुफ्त

शिवराज के प्रदेश के सभी नागरिक को मुफ्त में कोरोना टीका देने के ऐलान से सियासी पारा चढ़ सकता है.
शिवराज के प्रदेश के सभी नागरिक को मुफ्त में कोरोना टीका देने के ऐलान से सियासी पारा चढ़ सकता है.

मध्‍य प्रदेश उपचुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच जंग जारी है. इस बीच मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने मध्‍य प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को कोरोना टीका बनने पर मुफ्त में उपलब्ध कराने का ऐलान कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 2:56 PM IST
  • Share this:
भोपाल. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar assembly Election) के लिए भाजपा ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है. इसे भाजपा ने संकल्‍प पत्र का नाम दिया है. इसमें कई घोषणाओं के अलावा पार्टी ने कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी की वैक्सीन बनने के बाद सभी को मुफ्त में टीका देने का भी वादा किया है. इस बीच, मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने भी प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को टीका मुफ्त में उपलब्ध कराने का ऐलान कर दिया है.

सीएम शिवराज ने ट्विटर पर किया ऐलान
आपको बता दें कि मध्‍य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं, जिसके के लिए भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है. यही नहीं, इस दौरान दोनों पार्टी के नेताओं की बदजुबानी भी खुलकर सामने आ रही है. इस बीच, सीएम शिवराज ने प्रदेशवासियों को कोरोना टीका मुफ्त में देने का ऐलान कर मास्‍टरस्‍ट्रोक खेला है. शिवराज ने लिखा,' मेरे प्रदेशवासियों, कोविड-19 (COVID19) से जनता को बचाने के लिए हमने अनेक प्रभावी कदम उठाए हैं. आज यह पूरी तरह से नियंत्रित है. भारत में कोरोना की वैक्सीन तैयार करने का कार्य तेज़ी से चल रहा है, जैसे ही वैक्सीन तैयार होगी, मध्य प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को वह मुफ्त में उपलब्ध कराई जाएगी.
एक अन्‍य ट्वीट में सीएम ने कहा कि जब से देश में कोविड-19 टीके का ट्रायल शुरू हुआ, देश के गरीब वर्ग में एक चर्चा भी शुरू हुई क्या हम ये खर्च वहन कर पाएंगे? आज मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं, मध्य प्रदेश में हर एक गरीब प्रदेशवासी को मुफ्त टीका मिलेगा. हम ये जंग जीतेंगे.




उपचुनाव में फिसल रही है नेताओं की जुबान
मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर होने वाले चुनाव को लेकर कांग्रेस और बीजेपी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. कांग्रेस के नेता ने शिवराज सिंह चौहान को 'भूखे नंगे घर का' कहने का बवाल थमा नहीं था कि भाजपा के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मध्‍य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को ' चुन्‍नू- मुन्‍नू' की जोड़ी बता कर बखेड़ा खड़ा कर दिया. इसके बाद कमलनाथ ने ग्वालियर के डबरा में हुई एक चुनावी सभा के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया की समर्थक मंत्री इमरती देवी को लेकर बयान दिया था.



कमलनाथ ने डबरा से बीजेपी की उम्मीदवार इमरती देवी को तंज भरे लहजे में 'आइटम' कहकर संबोधित किया था. कमलनाथ ने मंच से अपने भाषण में कहा था कि 'सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे-साधे हैं. यह उसके जैसे नहीं है, क्या है उसका नाम? मैं क्या उसका नाम लूं आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं, आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, 'यह क्या आइटम है.' इस बयान के लिए भारतीय चुनाव आयोग कमलनाथ को नोटिस जारी कर 48 घंटे में जवाब देने के लिए बोल चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज