COVID-19: अब 'आयुष योद्धा' 5 हजार लोगों तक पहुंचा रहे दवा, मिल रहा ऐसा फीडबैक
Bhopal News in Hindi

COVID-19: अब 'आयुष योद्धा' 5 हजार लोगों तक पहुंचा रहे दवा, मिल रहा ऐसा फीडबैक
लोगों से फीडबैक लेकर रिपोर्ट भी तैयार की जा रही है.

जनता ने इस दवा को लेकर पॉजिटिव फीडबैक दिया है. इसी फीडबैक के आधार पर विभाग अपनी रिपोर्ट भी तैयार कर रहा है.

  • Share this:


भोपाल. कोरोना संक्रमण (COVID-19) से बचाव के लिए आयुर्वेदिक दवाई कारगर मानी जा रही है. यह हम नहीं बल्कि आयुष विभाग के योद्धा बता रहे हैं. यह आयुष योद्धा कोरोना से लड़ने के लिए मैदान में उतर गए हैं. हर रोज 5000 से ज्यादा लोगों तक त्रिकटु चूर्ण, संशमनी वटी और अणु तेल के पैकेट पहुंचाए जा रहे हैं. जनता ने इस दवा को लेकर पॉजिटिव फीडबैक दिया है. इसी फीडबैक के आधार पर विभाग अपनी रिपोर्ट भी तैयार कर रहा है.



इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाने में कारगर




राजधानी भोपाल में आयुष विभाग ने आयुर्वेदिक दवा के पैकेट वितरण करने के लिए अलग-अलग 12 टीम बनाई है. इन टीमों की को आर्डिनेशन की जिम्मेदारी विभाग के डॉ. राजेश मेश्राम को दी गई है. न्यूज़ 18 को डॉक्टर राजेश मेश्राम ने बताया कि 12 टीमें शहर के अलग-अलग इलाकों में आयुर्वेदिक दवा के पैकेट पहुंचाने का काम करती है. पिछले 23 दिनों में 125000 लोगों तक दवा पहुंचाई गई है. इस दवा का सेवन करने वाले लोगों से फोन पर फीडबैक लिया जाता है.




इसके अलावा भी दवा लेने वाले लोग खुद फोन करके विभाग को फीडबैक देते हैं. उन्होंने बताया कि जनता की फीडबैक के आधार पर दवा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कारगर साबित हो रही है. इस दवा को खाने के बाद लोगों को अच्छा लग रहा है. उनकी इम्यूनिटी पावर बढ़ रही है और वे स्वस्थ महसूस कर रहे हैं. कुल मिलाकर दवा को लेकर जनता का पॉजिटिव फीडबैक आ रहा है. यही कारण है कि अब इस दवा की डिमांड भी बढ़ने लगी है.




IAS, IPS, IFS दवा की डिमांड बढ़ी




भोपाल के खुशीलाल आयुर्वेदिक संस्थान में इस दवा के पैकेट को तैयार कर शहर के अलग-अलग स्थानों में विभाग की टीम बांटने का काम करती है. आयुष के अधिकारियों का कहना है कि इस दवा की डिमांड आईएएस, आईपीएस और आईएफएस में भी बढ़ी है. अभी तक कोलार, चार इमली, चुना भट्टी, शाहपुरा इलाके में इस दवा का वितरण किया गया है. दवा की लगातार डिमांड बढ़ रही है. यही कारण है कि अब दूसरे विभाग के अधिकारी और कर्मचारी भी इस दवा को लेने के लिए संस्थान में पहुंच रहे हैं. इसके अलावा भी शहर के हमीदिया अस्पताल, जेपी अस्पताल के साथ तमाम सरकारी अस्पतालों में भी इस आयुर्वेदिक दवा को पहुंचाया जा रहा है.




फीडबैक से तैयार हो रही रिपोर्ट




डॉ राजेश मेश्राम ने बताया कि एक पैकेट में त्रिकटु चूर्ण, संशमनी वटी और अणु तेल रखा जाता है. आयुष योद्धा लोगों से मिल रहे फीडबैक के आधार पर रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं. दवा लेने वाले लोग खुद फोन करके या फिर विभाग के अधिकारी उन लोगों को फोन करके दवा के संबंध में फीडबैक लेते हैं. इस फीडबैक के आधार पर विभाग अपनी रिपोर्ट तैयार कर रहा है. अभी तक की रिपोर्ट के अनुसार जनता से इन दवा को लेकर पॉजिटिव फीडबैक मिल रहा है.


ये भी पढ़ें: 




अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading