होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

बाबा रे बाबा : विवादित बाबाओं की शरण स्थली बना एमपी, रेप से लेकर कई गंभीर आरोप; कई सलाखों के पीछे

बाबा रे बाबा : विवादित बाबाओं की शरण स्थली बना एमपी, रेप से लेकर कई गंभीर आरोप; कई सलाखों के पीछे

MP Vivadit Baba : एमपी में पिछले कुछ समय में एक के बाद एक बाबाओं के गलत कामों का भांडाफोड़ हो रहा है.

MP Vivadit Baba : एमपी में पिछले कुछ समय में एक के बाद एक बाबाओं के गलत कामों का भांडाफोड़ हो रहा है.

Baba re Baba : मध्यप्रदेश में विवादित और फर्जी बाबाओं की लंबी फेहरिस्त है. रेप केस में मिर्ची बाबा के सलाखों के पीछे जाने से अब कई बड़े सवाल खड़े होने लगे हैं. ये बाबा भोली भाली जनता को अपने जाल में फंसा कर उन्हें लूट भी रहे हैं औऱ अपराध भी कर रहे हैं. वोट बैंक के चक्कर में इन्हें नेताओं और राजनीतिक दलों का संरक्षण मिला हुआ है. खुद को महामंडलेश्वर बताने वाले कंप्यूटर बाबा का विवादों से लंबा नाता है. पहले बीजेपी और बाद में उन्होंने कांग्रेस का दामन थामा. लेकिन उन पर सरकारी जमीन पर कब्जा करने का बड़ा आरोप है. इसी आरोप के चलते इंदौर में कंप्यूटर बाबा के आश्रम पर प्रशासन का बुलडोजर भी चला था और उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश अब धीरे-धीरे विवादित बाबाओं की शरण स्थली बन गया है. रेप से लेकर कई बड़े गंभीर आरोप इन बाबाओं पर है. कई बाबा सलाखों के पीछे हैं तो कई के केस कोर्ट में चल रहे हैं. राजनीतिक संरक्षण मिलने की वजह से ये बाबा इतने बेखौफ हो गए हैं कि धर्म और आस्था की आड़ में राजनीति और जनता के साथ धोखा किया जा रहा है.

मध्यप्रदेश में विवादित और फर्जी बाबाओं की लंबी फेहरिस्त है. रेप केस में मिर्ची बाबा के सलाखों के पीछे जाने से अब कई बड़े सवाल खड़े होने लगे हैं. ये बाबा भोली भाली जनता को अपने जाल में फंसा कर उन्हें लूट भी रहे हैं औऱ अपराध भी कर रहे हैं. वोट बैंक के चक्कर में इन्हें नेताओं और राजनीतिक दलों का संरक्षण मिला हुआ है.

बाबा नंबर–1
तारीख–9 अगस्त 2022. स्थान–भोपाल–वैराग्यानंद गिरी उर्फ मिर्ची वाले बाबा को भोपाल पुलिस ने रेप के आरोप में ग्वालियर में आधी रात में एक होटल से गिरफ्तार कर जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है. आरोप है कि मिर्ची बाबा निसंतान महिलाओं को तंत्र मंत्र और पूजा पाठ का झांसा देकर उनका शोषण कर रहा था.

ये भी पढ़ें- EXCLUSIVE : जेल में फूट–फूट कर रो पड़े मिर्ची बाबा, रात भर बदलते रहे करवटें

बाबा नंबर–2
तारीख–नंबर 2020, स्थान–देवास– खुद को भगवान का अवतार बताने वाले बाबा मंगलनाम पर मूक बधिर से रेप का आरोप है. पुलिस ने बाबा के दो आश्रम से 6 युवतियों को मुक्त कराया था. यह कार्रवाई चूना खदान कांकड़ और जामगोद पहाड़ी पर हुई. रेप का यह मामला तब सामने आया, जब मूक बाधिर युवती ने एक बच्ची को जन्म दिया. आश्रम से पुलिस को हिरण का एक सींग, एक पहाड़ी कछुआ और शक्तिवर्धक टैबलेट का एक रैपर मिला था.

ये भी पढ़ें- Exclusive: भोपाल के एक घर में इस तरह चल रहा था मिर्ची बाबा का अय्याशी का अड्डा, स्टाफ फरार

बाबा नंबर–3
तारीख–2013, स्थान–भोपाल–आसाराम बापू पर साल 2013 में अपनी नाबालिग शिष्या से रेप का आरोप है. वह पिछले कई साल से जोधपुर जेल में बंद हैं.  उनका भोपाल में भी एक आलीशान आश्रम है. धर्म की आड़ में उन्होंने अरबों का साम्राज्य खड़ा किया. उनके आश्रम का मुख्यालय अहमदाबाद में है. उन पर सबसे संगीन आरोप यही है कि वो आशीर्वाद देने के नाम पर नाबालिग लड़कियों का यौन शोषण और रेप करते थे. उन पर बड़े स्तर पर जमीन हड़पने के आरोप भी हैं.

बाबा नंबर–4
तारीख–2020, स्थान–नरसिंहपुर–तेंदूखेड़ा तहसील के नंदिया बिलहारा गांव में बाबा धर्मेंद्र दास का आश्रम अय्याशी का अड्डा बन गया था. बाबा इसी आश्रम से गांजा भी सप्लाई करता था. खुद को भगवान के रूप में पेश कर वह लोगों की आस्था से खिलवाड़ करता था. बाबा खुद को हनुमान जी का अवतार बताता था.

बाबा नंबर–5
तारीख–2017, स्थान–अशोक नगर–आनंदपुर ट्रस्ट में ज्ञानदयालानंद चक्की वाले बाबा पर यौन शोषण के आरोप लगे थे. पुलिस ने वीडियो के आधार पर बाबा पर एफआईआर दर्ज की थी. दलितों की जमीन पर कब्जा करने की शिकायत भी जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के पास है. वैसे तो 2005 से अभी तक ट्रस्ट में ऐसी 11 घटनाएं हुईं, जिसमें पुलिस ने एफआईआर दर्ज की. इनमें अधिकांश शिकायतें छेड़छाड़ की हैं.

बाबा नंबर–6
तारीख–नंबर 2022, स्थान–रायसेन–मामला मंडीदीप थाना क्षेत्र के ग्राम पोलाहा का है. यूपी के बांधवगढ़ निवासी फर्जी बाबा बच्चू जोशी, लवलेश गोस्वामी, मिथिलेश गोस्वामी, विधायक गोस्वामी, गुलाब जोशी और रामस्वरूप गोस्वामी. ये भिक्षा मांगने पोलाहा गांव पहुंचे हुए थे. सभी फर्जी बाबा मनोज लौवंशी के घर पहुंचे और उनकी समस्याओं का समाधान करने का दावा कर 500 रुपए नगद और चांदी की पायल ले ली. गांव से रफूचक्कर होने पर ग्रामीणों ने मिलकर सभी बाबाओं की जमकर धुनाई लगाई.

बाबा नंबर–7
तारीख– फरवरी 2021, स्थान–इंदौर–खुद को अघोरी तांत्रिक बाबा बताने वाले बाबा को महिलाओं से फोन पर अश्लील हरकत और गाली गालोच करने के आरोप में गिरफ्तार किया. इंदौर राजेन्द्र नगर क्षेत्र में रहने वाली एक महिला ने पुलिस से बाबा की शिकायत की थी. पुलिस ने बाबा का नंबर ट्रेस कर उसे गिरफ्तार किया था.

बाबा नंबर–8
तारीख–जून 2022, स्थान–इंदौर–इन्दौर के जूनी इंदौर थाना क्षेत्र में एक झाड़ फूक करने वाला बाबा को पुलिस ने गिरफ़्तार किया था. मुन्ना बाबा कोरोना जैसी बीमारी का बोलकर लोगों का इलाज कर रहा था. वो कर्बला मैदान में झाड़फूंक के नाम पर लोगों को ठग रहा था.

बाबा नंबर–9
तारीख–2021, स्थान–इंदौर–खुद को महामंडलेश्वर बताने वाले कंप्यूटर बाबा का विवादों से लंबा नाता है. पहले बीजेपी और बाद में उन्होंने कांग्रेस का दामन थामा. लेकिन उन पर सरकारी जमीन पर कब्जा करने का बड़ा आरोप है. इसी आरोप के चलते इंदौर में कंप्यूटर बाबा के आश्रम पर प्रशासन का बुलडोजर भी चला था और उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था.

एक दूसरे पर कीचड़
बीजेपी हो या कांग्रेस दोनों ही इन बाबाओं को संरक्षण देती हैं. जब कोई फंस जाता है तो ये एक दूसरे पर कीचड़ उछालने लगते हैं. कांग्रेस प्रवक्ता अजय सिंह यादव ने कहा बीजेपी सरकार में बाबाओं को संरक्षण दिया जा रहा है. बीजेपी सरकार में उन्हें जमीन एलॉट की गयी. बीजेपी सबसे ज्यादा राजनीति फायदा लेने के लिए इनका इस्तेमाल करती है. कांग्रेस के बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी के महामंत्री रजनीश अग्रवाल ने कहा मिर्ची बाबा कांग्रेस के बाबा थे. यह जनता जानती है. कंप्यूटर बाबा से लेकर इन बाबाओं को कांग्रेस ने संरक्षण दिया यह सबको पता है. इसलिए कांग्रेस को ऐसी बात नहीं करनी चाहिए.

Tags: Bhopal Crime News, Madhya pradesh latest news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर