होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /नियुक्तियों पर विवाद के बाद मध्य प्रदेश महिला कांग्रेस कार्यकारिणी भंग, 4 उपाध्यक्ष बनी रहेंगी

नियुक्तियों पर विवाद के बाद मध्य प्रदेश महिला कांग्रेस कार्यकारिणी भंग, 4 उपाध्यक्ष बनी रहेंगी

MP Mahila Congress News.

MP Mahila Congress News.

MP Political News. महिला कांग्रेस कार्यकारिणी में अपनी या अपनों की नियुक्ति न होने से बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारिय ...अधिक पढ़ें

भोपाल. मध्य प्रदेश महिला कांग्रेस की कार्यकारिणी (Mahila Congress) भंग कर दी गयी है. कार्यकारिणी पर मचे बवाल के बीच ऑल इंडिया महिला कांग्रेस कमेटी ने ये बड़ा फैसला लिया है. कार्यकारिणी का गठन 30 जनवरी को हुआ था लेकिन उसके बाद से ही कुछ नियुक्तियों को लेकर इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर में महिला कांग्रेस में असंतोष फैल गया था.

महिला कांग्रेस कार्यकारिणी में अपनी या अपनों की नियुक्ति न होने से बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारियों ने इस्तीफा देना शुरू कर दिया था. शिकायतों का दौर तेज हो गया था. कार्यकारिणी के गठन के 24 घंटे के अंदर ही सबसे पहला इस्तीफा इंदौर से आया था. इंदौर की सोनिया अतुल शुक्ला ने महामंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद उज्जैन में सबसे ज्यादा विवाद देखने को मिला था. विवाद सिर्फ इंदौर उज्जैन तक नहीं बल्कि ग्वालियर में भी देखने मिला. यहां पर भी पार्टी पदाधिकारियों ने प्रोटोकॉल का पालन नहीं होने पर पद से इस्तीफा दे दिया था.

दिल्ली से आदेश
हाल ही में कमलनाथ के ग्वालियर दौरे के बाद एक साथ कई महिला पदाधिकारियों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था. ग्वालियर में महिला कांग्रेस कमेटी जिला अध्यक्ष रुचि गुप्ता के पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफे के बाद संगठन से किनारा करने वालों की संख्या तेजी के साथ बढ़ गई थी. मध्य प्रदेश महिला कांग्रेस से जुड़ा विवाद दिल्ली तक जा पहुंचा था और आज ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश कार्यकारिणी को भंग करने का आदेश जारी कर दिया.

ये भी पढ़ें- मजदूर पिता की बेटी को सड़क पर मिला 7 लाख के जेवर से भरा पर्स, मालिक तक पहुंचाया

महिलाओं को जोड़ने के प्लान पर ग्रहण
महिला कांग्रेस के पत्र के मुताबिक संगठन में फिलहाल चार उपाध्यक्ष बनी रहेंगी. इन चार उपाध्यक्षों में नूरी खान, रश्मि पवार, कविता पांडे और जमुना मारवाई शामिल हैं. महिला कांग्रेस कार्यकारिणी के गठन के बाद प्रियंका गांधी के लड़की हूं लड़ सकती हूं अभियान वह भी जोर शोर के साथ शुरू किया गया था. महिला कांग्रेस ने इस अभियान के जरिए प्रदेश भर में महिलाओं को कांग्रेस से जोड़ने का प्लान बनाया था. लेकिन पार्टी के अंदर छिड़ा विवाद अभियान पर ग्रहण साबित हो गया और अब प्रदेश कार्यकारिणी ही भंग कर दी गयी. मतलब साफ है कि आने वाले दिनों में महिला कांग्रेस के गठन को लेकर पार्टी लिए मुश्किलें बरकरार रहेंगी.

Tags: All India Mahila Congress, Bhopal News Updates, Madhya pradesh latest news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें