थम नहीं रहा जहरीली शराब से मौतों का सिलसिला, आखिर जिम्मेदार कौन?

देश के कई राज्यों में जहरीली शराब से मौतों के बाद भी क्यों नहीं सतर्क हो रहीं सरकारें. (सांकेतिक तस्वीर)

देश के कई राज्यों में जहरीली शराब से मौतों के बाद भी क्यों नहीं सतर्क हो रहीं सरकारें. (सांकेतिक तस्वीर)

Poisonous liquor : हर साल सैकड़ों की संख्या में लोग जहरीली शराब पीने से मर जाते हैं और इतने ही आंखों की रोशनी खो बैठते हैं. सवाल है कि आखिर क्यों राज्यों की सरकारें जहरीली और अवैध शराब के कारोबार (Illegal Liquor Business), उसकी तस्करी पर रोक नहीं लगा पातीं?

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 8:55 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश के मुरैना, उज्जैन, रतलाम, यूपी के बुलंदशहर, सहारनपुर, राजस्थान के भरतपुर में जहरीली शराब के तांडव और मौतों पर कोहराम को भूल भी नहीं पाए थे कि शुक्रवार को राजस्थान के भीलवाड़ा (Bhilwara) के एक गांव में जहरीली शराब (Poisonous liquor) पीने से 4 लोगों की मौत और कई के बीमार हो जाने की खबर ने दिल दहला दिया है. देश का कमोबेश हर राज्य जहरीली शराब के कारोबार की चपेट में हैं. हर साल सैकड़ों की संख्या में लोग जहरीली शराब पीने से मर जाते हैं और इतने ही आंखों की रोशनी खो बैठते हैं. सवाल है कि आखिर क्यों राज्यों की सरकारें जहरीली और अवैध शराब के कारोबार, उसकी तस्करी पर रोक नहीं लगा पातीं?

यह कोई पहला मौका नहीं है, जब जहरीली शराब से मौतें हुई हों, इसका सिलसिला लगातार जारी है. भीलवाड़ा जिले के कंवलियास गांव में 7 और अमरगढ़ गांव में 4 लोग मर चुके हैं. अभी साल का जनवरी महीना गुजरा भी नहीं है, कि देश के अलग-अलग राज्यों एक के बाद एक जहरीली शराब से मौतों की घटनाओं ने हिलाकर रख दिया है. यूपी के बुलंदशहर में जहरीली शराब के सेवन से 4, राजस्थान के भरतपुर में 11 और मध्यप्रदेश के मुरैना में 28 लोग जान गंवा चुके हैं.

Youtube Video

हर साल हो जाती हैं सैकड़ों मौतें

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज