MP में किसानों को नकली बीच बेचकर धोखाधड़ी, 5 अफसर निलंबित

Madhya Pradesh News: खंडवा में बड़े पैमाने पर नकली बीज के कारोबार का पता चला है. नकली बीजों को प्रमाणित करने की धोखाधड़ी उजागर हुई है.

Madhya Pradesh News: खंडवा में बड़े पैमाने पर नकली बीज के कारोबार का पता चला है. नकली बीजों को प्रमाणित करने की धोखाधड़ी उजागर हुई है.

Madhya Pradesh News: खंडवा में बड़े पैमाने पर नकली बीज के कारोबार का पता चला है. नकली बीजों को प्रमाणित करने की धोखाधड़ी उजागर हुई है.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) में नकली बीज बेचने के मामले में 5 अफसरों को निलंबित (Suspend) किया गया है. ये अफसर खंडवा में पदस्थ थे. एमपी में नकली बीज के खुलासे के बाद हड़कंप मच गया है. इसके बाद कृषि मंत्री कमल पटेल ने निर्देश दिए हैं कि खाद बीज के मामले में गड़बड़ी बर्दाश्त नहीं की जाएगी. जहां भी शिकायत मिले जांच कर कार्रवाई की जाए. अधिकारी किसी भी बड़े स्तर का हो किसी को बख्शा नहीं जाएगा.

खंडवा और रतलाम में बड़े पैमाने पर नकली बीज के कारोबार की शिकायतें सामने आ रही थीं. कृषि विभाग ने इंदौर से टीम भेजकर जांच करवाई. इसमें साबित हुआ कि नकली बीज तैयार कर प्रमाणित किया जा रहा है. इस आधार पर राज्य बीज प्रमाणीकरण संस्था ने सहायक बीज प्रमाणीकरण अधिकारी सुरेश कुमार, अखिलेश चौहान, जयंत कुलहरी, राजा राम बडोले और पीपी सिंह को निलंबित कर दिया है.


किसानों को समय पर मिले खाद-बीज
कृषि मंत्री कमल पटेल ने ये भी कहा है कि खरीफ फसलों की बुवाई से पहले किसानों को हर हाल में यूरिया, डीएपी बीज और अन्य कृषि उपकरण उपलब्ध करा दिए जाएं. कृषि विभाग की अहम बैठक में कृषि मंत्री पटेल ने अफसरों को खरीफ की फसल से जुड़े निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा है कि नकली बीज-खाद और दवाओं के कारोबारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए.

कृषि विभाग में हड़कंप

प्रदेश में नकली बीज और खाद के कारोबार में कृषि विभाग के अफसरों की मिलीभगत के बाद अब विभाग में हड़कंप के हालात हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज