चित्रकूट अपहरण कांड: जुड़वा भाइयों के परिजनों को जान का खतरा!

बच्चों के पिता ब्रिजेश रावत और उनके परिवार को जान का खतरा है, उन्होंने पुलिस से सुरक्षा की भी मांग की है

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 10, 2019, 5:26 PM IST
चित्रकूट अपहरण कांड: जुड़वा भाइयों के परिजनों को जान का खतरा!
दोनों जुड़वा भाइयों की फाइल फोटो पिता के साथ
Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 10, 2019, 5:26 PM IST
मध्य प्रदेश के सतना जिले में हुए चित्रकूट अपहरण कांड में मृतक जुड़वा बच्चों के परिजनों की जान को खतरा बताया जा रहा है. बच्चों के पिता ब्रिजेश रावत और उनके परिवार को जान का खतरा है, उन्होंने पुलिस से सुरक्षा की भी मांग की है.

दरअसल, जुड़वा बच्चों के पिता ब्रजेश रावत ने DGP वीके सिंह से सुरक्षा की मांग की है. उन्होंने खुद की और परिजनों की जान को खतरा बताया है. उन्होंने डीजीपी को पत्र लिखा है कि उन्हें सुरक्षा प्रदान की जाए. इससे पहले मामले में 25 फरवरी को मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए गए थे.



कांग्रेस ने पीएम नरेन्द्र मोदी के लिए स्पीड पोस्ट से भिजवायी होम्योपैथी की एक दवा

बता दें कि मध्य प्रदेश के सतना जिले में चलती स्कूल बस से अगवा किए गए जुड़वां बच्चों के शव मिले थे. अपहरणकर्ताओं ने दोनों की हत्या कर दी थे. दोनों बच्चों के शव यूपी के बांदा से मिले थे. इस घटना को लेकर चित्रकूट में लोगों ने पुलिस की गाड़ी पर पथराव भी किया था जिसके बाद वहां धारा-144 लागू कर दी गई है.

12 फरवरी को सतना में एक स्कूल बस से इन दो बच्चों का अपहरण किया गया था. बच्चों का नाम देवांश और प्रियांश है. अपहरणकर्ताओं ने बच्चों के पिता से 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी, जिसके बाद पिता ने उन्हें 20 लाख रुपये दे भी दिया था, लेकिन बच्चों के शव उत्तर प्रदेश के बांदा में बबेरू इलाके के पास यमुना नदी में मिले थे.

यह भी पढ़ें- भोपाल में छात्राओं को नहीं मिल रहा ढंग का खाना! कॉलेज के खिलाफ खोल दिया मोर्चा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार