खल गया राहत साहब आपका ऐसे चला जाना, खुद चाहने वालों से मांगी थी सलामती की दुआ

राहत इंदौरी के ट्विटर हैंडल से उनके निधन की जानकारी दी गई. (File)

Rahat Indori Latest Update: राहत साहब ने मुन्ना भाई एमबीबीएस, मीनाक्षी, खुद्दार, नाराज, मर्डर, मिशन कश्मीर, करीब, बेगम जान, घातक, इश्क जैसी फिल्मों में गीत लिखा था. डॉ. कुमार विश्वास (Dr. Kumar Vishwas) ने भी उन्हें एक शेर के जरिए याद किया है.

  • Share this:
इंदौर. अगर खिलाफ हैं होने दो, जान थोड़ी है...ये सब धुआं है कोई आसमान थोड़ी है...लगेगी आग तो आएंगे घर कई जद में...यहां पे सिर्फ़ हमारा मकान थोड़ी है... ये अल्फाज मशहूर शायर डॉ. राहत इंदौर के हैं जो अब हमारे बीच नही रहे. राहत साहब का इंदौर के अस्पताल में निधन हो गया है. राहत इंदौर (Rahat Indori) के ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर उनके इंतेक़ाल की जानकारी दी गई. राहत साहब का जन्म 1 जनवी 1950 इंदौर में हुआ था. 70 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया. कोरोना के शुरुआती लक्षण के बाद डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें इंदौर के अर‌बिंदो अस्पताल में भर्ती किया गया था जहां उन्होंने अंतिम सांस ली.

राहत साहब देश के एक बेजोड़ शायर माने जाते रहे हैं. उनके रूह तक उतर जाने वाली शायरी हर दिल अजीज थी. उनके मुशायरों की खचाखच भीड़ बताती थी उनके चाहने वाले कितने हैं. राहत साहब की माइक में अपने एक अलग तरीके से शायरी पेश करने की वो अदा लोगों के दिलो दिमाग पर छाई रहेगी. राहत साहब का असली नाम राहत कुरैशी था. मशहूर हुए तो राहत इंदौरी हो गए.


मज़ा चखा के ही माना हूं मैं भी दुनिया को







समझ रही थी कि ऐसे ही छोड़ दूंगा उसे







डॉ. राहत इंदौरी का फिल्मी सफर

राहत इंदौरी का जन्म मध्य प्रदेश के इंदौर में 1 जनवरी, 1950 हुआ था. राहत इंदौरी साहब ने बरकतुल्लाह यूनिवर्सिटी से उर्दू में एमए किया था. भोज यूनिवर्सिटी ने उन्हें उर्दू साहित्य में पीएचडी से नवाजा था. राहत ने मुन्ना भाई एमबीबीएस, मीनाक्षी, खुद्दार, नाराज, मर्डर, मिशन कश्मीर, करीब, बेगम जान, घातक, इश्क, जानम, सर, आशियां और मैं तेरा आशिक जैसी फिल्मों में गीत लिखे.

ये भी पढ़ें: UP Weather Update: आज शाम इन इलाकों में हो सकती है भारी बारिश, अगले दो दिन ऑरेंज अलर्ट

खुद ट्वीट कर दी थी जानकारी

राहत इंदौरी साहब को इंदौर के अरविंदो अस्पताल में डॉक्टरों की सलाह पर भर्ती कराया गया था. उन्होंने खुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी थी. राहत इंदौरी ने अपने ट्वीट में लिखा, कोविड के शरुआती लक्षण दिखाई देने पर कल मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉज़िटिव आयी है.ऑरबिंदो हॉस्पिटल में एडमिट हूं, दुआ कीजिये जल्द से जल्द इस बीमारी को हरा दूं, एक और इल्तेजा है, मुझे या घर के लोगों को फ़ोन ना करें, मेरी ख़ैरियत ट्विटर और फेसबुक पर आपको मिलती रहेगी.



कुछ देर बाद उनके ही ट्वीट हैंडल से उनके इंतेकाल की खबर दी गई. इस ट्वीट में लिखा गया, राहत साहब का Cardiac Arrest की वजह से आज शाम 05:00 बजे इंतेक़ाल हो गया है..उनकी मग़फ़िरत के लिए दुआ कीजिये.



ऐसे याद आ रहे हैं राहत इंदौर

डॉ. राहत इंदौरी के निधन पर उनके चाहने वाले उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं. डॉ. कुमार विश्वास ने भी उन्हें याद किया और अपने ट्विटर हैंडल पर एक शेर ट्वीट की. उन्होंने लिखा, हे ईश्वर ! बेहद दुखद ! इतनी बेबाक़ ज़िंदगी और ऐसा तरंगित शब्द-सागर इतनी ख़ामोशी से विदा होगा,कभी नहीं सोचा था ! शायरी के मेरे सफ़र और काव्य-जीवन के ठहाकेदार क़िस्सों का एक बेहद ज़िंदादिल हमसफ़र हाथ छुड़ा कर चला गया. वहीं, एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी राहत इंदौर के निधन पर दुख व्यक्त किया है. 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.