भोपाल: Ludo के गेम में पिता ने दिया 'धोखा', फैमली कोर्ट पहुंच गई 24 साल की बेटी

महिला के साथ 4 काउंसलिंग सत्र आयोजित किया गया है.
महिला के साथ 4 काउंसलिंग सत्र आयोजित किया गया है.

24 साल की महिला का आरोप है कि उसके पिता ने लूडो गेम (Ludo Game) में उसके साथ चीटिंग की है. पूरे मामले की शिकायत उसने भोपाल फैमली कोर्ट (Bhopal Family Court) में की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 12:18 AM IST
  • Share this:
भोपाल. कभी-कभी एक छोटे से खेल में हारना कुछ लोगों को इतना नागवार गुजरता है कि वो मामला लेकर सीधे अदालत (Court) पहुंच जाते हैं. कोरोना संकट (COVID-19) के बीच समय बिताने के लिए खेला गया लूडो का एक गेम (LUDO Game) अब कोर्ट की दहलीज तक पहुंच गया है. यकीन नहीं होता ना, लेकिन ये सच है. एक ऐसा ही हैरान करने वाला मामला सामने आया है मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) से. लूडो के गेम हार गई एक महिला सीछे परिवार न्यायालय पहुंच गई और अपने पिता की शिकायत कर दी.

दरअसल, मध्य प्रदेश के भोपाल में रहने वाले एक परिवार की 24 साल की महिला ने  परिवार न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है. महिला ने अपने पिता पर एक लूडो के गेम में धोखा देने का आरोप लगाया. इस पूरे मामले की जानकारी कोर्ट की काउंसलर सरिता ने दी. सरिता के मुताबिक, महिला का कहना है कि उसने अपने पिता पर इतना भरोसा किया और उनसे धोखा देने की उम्मीद नहीं की. सरिता का कहना है कि हमने महिला के साथ 4 काउंसलिंग सत्र आयोजित किए हैं.

यहां डांस वीडिओ हुआ वायरल



मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण  की रोकथाम के बीच बड़ी तादाद में लोग अस्पतालों से ठीक होकर घर लौट रहे हैं. कोरोना को मात देकर लौटने वाले इन मरीजों की खुशी देखते ही बनती है. इसी क्रम में सीहोर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें 84 साल की बुजुर्ग महिला कोरोना को हराने के बाद अस्पताल में ही डांस करती नजर आ रही हैं. दादी अम्मा के चेहरे पर बीमारी को हराने की खुशी साफ देखी जा सकती है. सीहोर जिले के अस्पताल के इस वीडियो को सोशल मीडिया पर पसंद किया जा रहा है.
यहां देखें ANI का ट्वीट



ये भी पढ़ें: अपग्रेड हुए 258 सरकारी स्कूलों में होगा 2161 अस्थाई पदों का गठन, सीएम गहलोत ने दी मंजूरी

सीहोर के जिला कोविड सेंटर में भर्ती 84 साल की दादी लालबाई श्यामपुर गांव की रहने वाली हैं. बीते दिनों उन्हें कोरोना वायरस संक्रमित पाए जाने के बाद कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया था. जिंदगी के इस पड़ाव पर कोरोना महामारी से ग्रसित होने के बाद भी बुजुर्ग दादी की जिजीविषा देखने लायक है. बुजुर्ग लीलाबाई ने बीमारी से जंग लड़ी और इस खतरनाक वैश्विक महामारी को मात दी. बीते दिनों एक बार फिर जब लीलाबाई की जांच की गई, तो वह कोरोना निगेटिव पाई गईं. इसके बाद उनके चेहरे पर खुशी देखने लायक थी. कोरोना को हराकर बुजुर्ग महिला इतनी खुश हुईं कि अस्पताल में ही वह डांस करने लगीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज