क्योंकि जनता को दागी पसंद हैं... आपराधिक पृष्टभूमि वाले 55 नेता बने विधायक

फाइल फोटो

फाइल फोटो

करोड़पति और आपराधिक छवि वाले विधायकों को लेकर एडीआर (इलेक्शन वॉच) की रिपोर्ट के मुताबिक इस बार चुनाव लड़ने वाले 94 में से 55 आपराधिक छवि वाले विधायकों ने जीत दर्ज की है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 में जनता ने साफ छवि वाले नेताओं के मुकाबले आपराधिक छवि वाले नेताओं को ज्यादा तरजीह दी है. करोड़पति और आपराधिक छवि वाले विधायकों को लेकर एडीआर (इलेक्शन वॉच) की रिपोर्ट के मुताबिक इस बार चुनाव लड़ने वाले 94 अपराधिक छवि वाले नेताओं में से 55 नेता विधायक बनकर विधानसभा पहुंचे हैं.  इन 55 में से 10 विधायकों ने 20 प्रतिशत से ज्यादा मतों से जीत हासिल की है जबकि डबरा से कांग्रेस की इमरती देवी ने 38 प्रतिशत मतों के अंतर से जीत दर्ज की है.



वहीं मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के रण में 187 करोड़पति प्रत्याशियों में से 35 ने इस बार बाजी मारी है. इस बार धनबल पर प्रत्याशी थोड़ा पीछे ही रहे है. जीते हुए 35 में से केवल 5 करोड़पति विधायकों ने ही 20 फीसदी से ज्यादा अंतर से जीत हासिल की.



विधायकों के जीत के आंकड़ों को देखा जाए तो ये भी हैरान करने वाले है. 10 ऐसे विधायक है जिन्होंने एक हजार से कम वोटों से जीत हासिल की है. 83 विधायकों को कुल पड़े वोटों में से 50 प्रतिशत से या इससे ज्यादा वोट मिले है. जबकि 147 ऐसे विधायकों ने जीत का स्वाद चखा है जिन्हे कुल वोट में से 50 फीसदी से कम वोट हासिल हुए हैं.





चुनावों में भले ही साफ-सुथऱी छवि की बात कही जाती है. लेकिन आंकड़े बता रहे हैं कि जनता ने आपराधिक छवि वाले नेताओं को ज्यादा तरजीह दी है और वे चुनाव जीतने में कामयाब रहे है.
ये भी पढ़ें- निवेश की नई संभावनाओं के साथ वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम से वापस लौटे सीएम कमलनाथ



ये भी पढ़ें- 89 बरस के बीजेपी लीडर बाबूलाल गौर बोले : अभी तो लड़की देख रहे हैं, फिर 'शादी' करेंगे...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज