ई-टेंडरिंग के बाद एक और घोटाले पर कांग्रेस का वार, बढ़ सकती है बीजेपी की मुश्किल!

कांग्रेस सरकार पेंशन जांच घोटाला मामले में जस्टिस एसके जैन की रिपोर्ट को अब सार्वजनिक करने के मूड में है.

Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 13, 2019, 4:38 PM IST
ई-टेंडरिंग के बाद एक और घोटाले पर कांग्रेस का वार, बढ़ सकती है बीजेपी की मुश्किल!
सीएम कमलनाथ फाइल फोटो
Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 13, 2019, 4:38 PM IST
ई- टेंडरिंग घोटाला, पत्रकारिता विश्वविद्यालय में भ्रष्टाचार और सहकारिता घोटाले के बाद कांग्रेस सरकार ने चर्चित इंदौर के पेंशन घोटाले की फाइलें खोलने की तैयारी कर ली है. कांग्रेस सरकार पेंशन जांच घोटाला मामले में जस्टिस एसके जैन की रिपोर्ट को अब सार्वजनिक करने के मूड में है.

दरअसल, प्रदेश के मंत्री गोविंद सिंह के मुताबिक एसके जैन की रिपोर्ट में पेंशन घोटाला होने और उसमें बीजेपी से के नेता कैलाश विजयवर्गीय को दोषी माना गया है. सरकार अब जांच आयोग की रिपोर्ट को सार्वजनिक करने के साथ ही दोषी नेता और अफसरों के खिलाफ कार्रवाई करेगी.



भोपाल के लिए दिग्विजय सिंह का विकास मॉडल! जारी करेंगे 'दृष्टि पत्र'

बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय इंदौर लोकसभा सीट से बीजेपी के दावेदारों में से एक हैं. हालांकि बीजेपी ने अभी उनके नाम का ऐलान नहीं किया है. अब कांग्रेस जैन आयोग की रिपोर्ट के जरिए कैलाश विजयवर्गीय की घेराबंदी करने की कोशिश में है.

क्या है इंदौर के पेंशन घोटाला मामला
-कैलाश विजयवर्गीय के महापौर कार्यकाल में हुआ घोटाला
-पेंशऩ घोटाले की जांच के लिए 2008 में आयोग का हुआ गठन
Loading...

-जांच आयोग ने 2012 में सरकार को सौपी रिपोर्ट
-सरकार ने जांच आयोग की रिपोर्ट के परीक्षण के लिए तत्कालीन सरकार ने तीन सदस्यीय मंत्रियों की कमेटी बनाई
-कमेटी की कई बार बैठक हुई
-लेकिन कोई फैसला नही हुआ

कांग्रेस सरकार ने सामाजिक न्याय विभाग में लंबित जांच आयोग की रिपोर्ट को तलब किया है. राज्य सरकार एनके जैन आयोग की रिपोर्ट को आगामी विधानसभा के पटल पर रखा जाएगा.. रिपोर्ट के सार्वजनिक होने पर कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ कांग्रेस को बड़ा मुद्दा मिल जाएगा.

यह भी पढ़ें- दिग्विजय सिंह का ऐलान- राम मंदिर के लिए भोपाल में देंगे जमीन
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...