मंत्रिमंडल विस्तार के बाद BJP में सुलगी चिंगारी, असंतुष्ट विधायक के समर्थकों ने शुरू किया विरोध प्रदर्शन
Bhopal News in Hindi

मंत्रिमंडल विस्तार के बाद BJP में सुलगी चिंगारी, असंतुष्ट विधायक के समर्थकों ने शुरू किया विरोध प्रदर्शन
इसी तरह उज्जैन से लगी आगर सीट पर जैन वोटरों की नाराजगी पार्टी के लिए मुश्किल बन सकती है.

कैबिनेट मंत्री प्रदुम सिंह तोमर (Pradum Singh Tomar) का कहना है कि मंत्रिमंडल विस्तार में क्षेत्रीय और जातीय संतुलन को साधा गया है. ऐसे में पार्टी में कहीं कोई नाराजगी नहीं है.

  • Share this:
भोपाल. शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet expansion) के बाद भले ही नाराज विधायक खुलकर सामने नहीं आ रहे हों, लेकिन उन्हें मंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन (Protest) के जरिए अपनी नाराजगी जता रहे हैं. सबसे ज्यादा असर मालवा-निमाड़ (Malwa-Nimar) और बुंदेलखंड समेत रायसेन की सीट को लेकर है. यहां पर बीजेपी के सीनियर विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह नहीं देने पर बवाल मचा हुआ है. हालांकि बीजेपी (BJP) का दावा है कि मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर किसी तरह की नाराजगी नहीं है. और यदि कहीं छोटी मोटी नाराजगी है तो उसे भी संगठन दूर करने का काम कर लेगा.

कैबिनेट मिनिस्टर प्रदुम सिंह तोमर का कहना है कि मंत्रिमंडल विस्तार में क्षेत्रीय और जातीय संतुलन को साधा गया है. ऐसे में पार्टी में कहीं कोई नाराजगी नहीं है. दरअसल मंत्रिमंडल विस्तार के बाद जिन सीटों पर बीजेपी को भितरघात की संभावना बढ़ रही है, उसमें इंदौर को सावेर सीट भी है. इस सीट पर महू से उषा ठाकुर को मंत्री बनाया गया है जबकि कैलाश विजयवर्गीय के करीबी रमेश मेंदोला को मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिल पाई है. मेंदोला के समर्थकों ने प्रदर्शन कर अपनी नाराजगी जताई है.

धार की बदनावर
धार से बीजेपी की सीनियर विधायक नीना वर्मा दावेदार थी, लेकिन उनको मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है. रायसेन के सांची- रायसेन जिले से पूर्व मंत्री रामपाल सिंह और सुरेंद्र पटवा मंत्री पद के दावेदार थे. लेकिन दोनों को जगह नहीं मिली. इसकी नाराजगी दोनों नेताओं ने पार्टी को जताई है. वहीं, देवास जिले के हाटपिपलिया सीट से बीजेपी की विधायक गायत्री राजे पवार भी मंत्री पद की दावेदार थी. गायत्री राजे पवार को मंत्री नहीं बनाए जाने पर कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन कर गुस्सा जाहिर किया है.
पार्टी के लिए मुश्किल बन सकती है


इसी तरह उज्जैन से लगी आगर सीट पर जैन वोटरों की नाराजगी पार्टी के लिए मुश्किल बन सकती है. उज्जैन से बीजेपी के विधायक और पूर्व मंत्री पारस जैन को मंत्री नहीं बनाए जाने पर नाराजगी है. पारस जैन ने मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने पर विनय सहस्त्रबुद्धे से मुलाकात कर अपनी नाराजगी को बयां किया है.
मंदसौर की सुवासरा से पार्टी ने हरदीप सिंह डंग को मंत्री बनाया है, लेकिन बीजेपी की तरफ से दावेदार यशपाल सिंह सिसोदिया नाराज बताए जा रहे हैं. उनके समर्थकों ने सिसोदिया को मंत्री नहीं बनाए जाने पर विरोध प्रदर्शन किया है.

सुरखी से गोविंद सिंह राजपूत मंत्रिमंडल में शामिल हैं
सागर के सुरखी से गोविंद सिंह राजपूत मंत्रिमंडल में शामिल हैं, लेकिन प्रदीप लारिया को मंत्री नहीं बनाए जाने पर लारिया समर्थकों ने बीजेपी दफ्तर पर प्रदर्शन कर नाराजगी जता चुके है. साथ ही सागर से बीजेपी विधायक शैलेंद्र जैन भी नाराज बताए जा रहे हैं. वहीं,  बीजेपी के असंतोष पर कांग्रेस ने नजरें गड़ाना तेज कर दिया है. कांग्रेस को उम्मीद है कि उपचुनाव में बीजेपी के अंदरूनी कलह, उसके लिए फायदेमंद साबित होगी. पूर्व मंत्री पीसी शर्मा के मुताबिक, मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर बीजेपी में जबरदस्त असंतोष है जो आने वाले दिनों में और बढ़ेगा. बहराल प्रदेश की 24 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में करीब एक दर्जन सीटों पर मंत्रिमंडल विस्तार का सीधा असर होगा. ऐसे में पार्टी उप चुनाव से पहले नाराज विधायकों को कैसे मना पाती है यह भी दिलचस्प होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading