Home /News /madhya-pradesh /

MP में कल होगा अन्न महोत्सव, बाढ़ प्रभावित जिलों में अनाज तो बंटेगा लेकिन उत्सव नहीं होगा

MP में कल होगा अन्न महोत्सव, बाढ़ प्रभावित जिलों में अनाज तो बंटेगा लेकिन उत्सव नहीं होगा

एमपी में 7 अगस्त से अन्न महोत्सव शुरू हो रहा है जो नवंबर तक चलेगा.

एमपी में 7 अगस्त से अन्न महोत्सव शुरू हो रहा है जो नवंबर तक चलेगा.

Food Festival in MP : सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने कहा है कि बाढ़ पीड़ितों के घर गिरने पर सरकार उन्हें ₹1 लाख 20 हजार की आर्थिक मदद देगी. जब तक घर नहीं बन जाता है तब तक हर महीने ₹6000 किराया दिया जाएगा.

भोपाल. मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार(Shivraj Government) कल 7 अगस्त को पूरे प्रदेश में अन्न महोत्सव का आयोजन करने जा रही है. इस महोत्सव के जरिए एक करोड़ 15 लाख बीपीएल परिवारों को अनाज दिया जाएगा. एक थैले में 10 किलो अनाज दिया जाएगा. इस महोत्सव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल तरीके से जुड़ेंगे और हितग्राहियों से बातचीत करेंगे. कार्यक्रम के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वालों को सरकार थैले में अनाज बांटेगी. इन थैलों पर पीएम मोदी और सीएम शिवराज के फोटो होंगे.

मध्य प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने कहा प्रदेश की सभी राशन दुकानों पर अन्न महोत्सव होगा. राशन दुकानों पर पीएम मोदी और सीएम शिवराज के फोटो वाले बैनर लगाने के भी निर्देश दिए गए हैं. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में महोत्सव का आयोजन नहीं होगा. लेकिन बाढ़ में तबाह हो चुके परिवारों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर हितग्राही को 10 किलो अनाज के साथ 50 किलो अतिरिक्त अनाज दिया जाएगा. राज्य सरकार के इस महोत्सव में 7 राज्यों के खाद्य मंत्री भी शामिल होंगे.

बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद
सीएम शिवराज ने कहा अन्न महोत्सव का आयोजन तो होगा लेकिन बाढ़ प्रभावित जिलों में कोई उत्सव नहीं मनाया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा बाढ़ पीड़ितों को सरकार 10 किलो अनाज के अलावा 50 किलो आटा देने की व्यवस्था करेगी. ताकि बाढ़ पीड़ितों की मदद हो सके. सीएम शिवराज ने कहा है कि बाढ़ पीड़ितों के घर गिरने पर सरकार उन्हें ₹1 लाख 20 हजार की आर्थिक मदद देगी. जब तक घर नहीं बन जाता है तब तक हर महीने ₹6000 किराया दिया जाएगा.

 कांग्रेस ने उठाए सवाल
7 अगस्त को मनाए जाने वाले अन्न महोत्सव पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं. कांग्रेस प्रवक्ता के के मिश्रा ने कहा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से शिकायत मिल रही है कि लोगों को अनाज नहीं मिल पा रहा है और ऐसे में अन्य महोत्सव का आयोजन गरीबों के साथ मजाक है.

पहले से तय था कार्यक्रम
अन्न महोत्सव पहले से तय था. लेकिन इस बीच ग्वालियर-चंबल में आयी बाढ़ के कारण अब इन इलाकों में उत्सव न करने का सरकार ने फैसला किया. बाढ़ पीड़ित इलाकों में अन्न तो बंटेगा लेकिन उत्सव नहीं होगा. 7 अगस्त से अन्न महोत्सव शुरू हो रहा है जो नवंबर तक चलेगा.

Tags: Congress leaders, Flood in madhya pradesh, Ration Distribution, Rivers flooded, Shivraj government

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर