होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

नए कृषि कानूनों से विदेशी कंपनियां हमारे देश के किसानों का शोषण करेंगी : दिग्विजय सिंह

नए कृषि कानूनों से विदेशी कंपनियां हमारे देश के किसानों का शोषण करेंगी : दिग्विजय सिंह

दिग्विजय सिंह ने शाहपुर में आयोजित ‘खाट पंचायत’ को संबोधित किया. (फाइल फोटो)

दिग्विजय सिंह ने शाहपुर में आयोजित ‘खाट पंचायत’ को संबोधित किया. (फाइल फोटो)

दिग्विजय सिंह ने कहा कि जापान की कंपनियां भारत में जमीन खरीद रही हैं और नए कृषि कानूनों के आ जाने से और बड़ी-बड़ी विदेशी कंपनियां भी यहां आएंगी और किसानों की जमीन खरीद लेंगी.

    भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में भारतीय किसान यूनियन (Bharatiya Kisan Union) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) नए कृषि कानूनों (new agricultural law) के खिलाफ समर्थन जुटाने के लिए 8 मार्च को पहली रैली करेंगे. लेकिन इस बीच मध्य प्रदेश में कांग्रेस (Congress) इस मुद्दे पर सक्रिय हो गई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने किसानों को इस कानून के खिलाफ एकमत करने का काम शुरू कर दिया है. रविवार को उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों से विदेशी कंपनियां हमारे देश के किसानों का शोषण करेंगी.

    भोपाल जिले की बैरसिया तहसील के ग्राम शाहपुर में आयोजित ‘खाट पंचायत’ में सिंह ने इन कृषि कानूनों की खामियां बताते हुए कहा, ‘अंग्रेजों के जमाने में ईस्ट इंडिया कंपनी भारत में धंधा करने आई थी और उसने भारत में 150 साल तक राज किया. अब देश में यही हालत पैदा हो रही है. अब विदेशी कंपनियां भारत में आएंगी और किसानों का शोषण करेंगी और उनकी जमीनें खरीदेगी.’

    उन्होंने कहा कि वर्तमान में भी जापान की कंपनियां भारत में जमीन खरीद रही हैं और इन तीन कृषि कानूनों के आ जाने से और बड़ी-बड़ी विदेशी कंपनियां भी यहां आ जाएंगी और किसानों की जमीन खरीद लेंगी. सिंह ने कहा कि भाजपा के गठबंधन में शामिल रहे दल ही इन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं और अकाली दल ने तो गठबंधन छोड़ दिया है. उन्होंने आरोप लगाया कि ये कृषि कानून किसान विरोधी हैं और अगर ये वापस नहीं लिए गए तो देश में किसान और खेती दोनों को खत्म कर देंगे.

    Tags: Bharatiya Kisan Union, Digvijay singh, Madhya pradesh news, New Agricultural Law, Rakesh Tikait

    अगली ख़बर