होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /गुंदेचा बंधुओं पर यौन उत्पीड़न का आरोप, फेसबुक पर विदेशी छात्रा ने किया चौंकाने वाला पोस्ट

गुंदेचा बंधुओं पर यौन उत्पीड़न का आरोप, फेसबुक पर विदेशी छात्रा ने किया चौंकाने वाला पोस्ट

गुरुकुल के समर्थकों का दावा है कि संस्थान को बदनाम करने की अंतरराष्ट्रीय साजिश है.

गुरुकुल के समर्थकों का दावा है कि संस्थान को बदनाम करने की अंतरराष्ट्रीय साजिश है.

संस्थान के प्रमुख उमाकांत (Umakant) ने कहा कि जो भी आरोप लगाए गए हैं उसके लिए संस्था ने कमेटी का गठन कर दिया है. रिपोर् ...अधिक पढ़ें

भोपाल. मशहूर ध्रुपद गायक गुंदेचा बंधुओं (Bundela Brothers) के खिलाफ सोशल मीडिया (Social Media) पर गंभीर आरोप लगे हैं. विदेशी छात्रा ने फेसबुक पोस्ट के जरिए उन पर यौन उत्पीड़न (  Sexual Harassment) का बड़ा आरोप लगा है. इस आरोप के बाद संस्थान की तरफ से स्टेटमेंट जारी किया गया है. संस्थान का कहना है कि इस पूरे मामले की जांच के लिए इंटरनल कमेटी का गठन कर दिया गया है. कमेटी जांच कर रही है. जांच में जो भी बिंदु आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई तय की जाएगी.

गुंदेचा बंधुओं में से रमाकांत की पिछले साल हार्ट अटैक से मौत हो गई थी. उनके बड़े भाई उमाकांत गुंदेचा ध्रुपद संस्थान के प्रमुख हैं. अखिलेश गुंदेचा छोटे भाई हैं और पखावज वादक हैं. गुंदेचा बंधुओं को 2012 में पद्मश्री और 2017 में संगीत नाटक अकादमी अवॉर्ड से नवाजा जा चुका है. ध्रुपद देश के सबसे पुराने शास्त्रीय संगीत में से एक है. ध्रुपद संस्थान एक आवासीय शास्त्रीय संगीत गुरुकुल है, जिसे यूनेस्को ने अमूर्त सांस्कृतिक विरासत का दर्जा दिया है.

फेसबुक पर किया पोस्ट

भोपाल स्थित प्रतिष्ठित आवासीय संगीत गुरुकुल ध्रुपद संस्थान के दो लोकप्रिय गुरु रमाकांत गुंदेचा और अखिलेश गुंदेचा पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं. ये आरोप ध्रुपद फैमिली यूरोप नाम से एक फेसबुक ग्रुप पर पोस्ट कर लगाए गए हैं. साथ ही इन संगीतकारों के छात्रों को ईमेल किए गए, जिसमें इन दोनों गुरुओं द्वारा कई सालों तक यौन उत्पीड़न करने के आरोप लगे हैं. एम्सटर्डम की एक योग शिक्षक ने फेसबुक पोस्ट लिखी. उन्होंने कहा कि पहचान उजागर न हो, इसलिए अपनी एक दोस्त की ओर से इस तथ्य को सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर सार्वजनिक किया है.

गुंदेचा बंधुओं पर लगे ये आरोप

फेसबुक पोस्ट में आरोप लगे हैं कि हमने सच्चाई कहने पर बदला लिए जाने के डर, लोगों द्वारा जज किए जाने के डर और हमें चुप रहने के लिए रमाकांत और अखिलेश गुंदेचा की धमकियों पर चुप्पी साधे रखी. कई छात्राओं का यौन उत्पीड़न किया गया और संगीत क्षेत्र में करिअर की बात कहकर उनसे समझौता करने को कहा गया. ना कहने पर गुरुकुल में परेशानी होती थी. पोस्ट में गुरुओं द्वारा छात्राओं को गलत तरीके से छूने के आरोप भी लगाए गए हैं. पोस्ट में पीड़िता ने लिखा कि अब तक जो कुछ हुआ, उसके बारे में मैंने सिर्फ अपने परिवार को बताया है. मैंने संस्थान में किसी और के साथ इसके बारे में बात नहीं की.

ये भी पढ़ें: MP: इंदौर जेल में हनीट्रैप आरोपी महिलाएं कर रही थी डांस, देख रहे थे जेलर, VIDEO VIRAL

ध्रुपद संस्थान ने जारी किया स्टेटमेंट

इस तरीके के आरोप लगने के बाद संस्थान की तरफ से एक स्टेटमेंट जारी किया गया है. यह स्टेटमेंट संस्थान के प्रमुख उमाकांत ने जारी किया है. उन्होंने न्यूज़ 18 से फोन पर बातचीत करते हुए कहा कि जो आरोप लगाए गए हैं उसके लिए संस्था ने कमेटी का गठन किया है. इंटरनल कमेटी मामले की जांच कर रही है. जांच रिपोर्ट में जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी.

इस स्टेटमेंट में कहा गया है कि समिति अखिलेश गुंदेचा पर लगाए गए आरोपों की जांच करेगी और जब तक समिति की रिपोर्ट पेश नहीं होती, तब तक अखिलेश गुंदेचा ने स्वेच्छा से खुद को ध्रुपद संस्थान की सभी गतिविधियों से दूर कर लिया है. गुरुकुल के समर्थकों का दावा है कि संस्थान को बदनाम करने की अंतरराष्ट्रीय साजिश है.

Tags: Bhopal news, Crime News, Madhya pradesh news, Madhya Pradesh News Updates, Madhya Pradsh News, Sexual Harassment

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें