विदेशी सैलानियों का मध्य प्रदेश से हो रहा है मोह भंग!
Bhopal News in Hindi

विदेशी सैलानियों का मध्य प्रदेश से हो रहा है मोह भंग!
खजुराहो की फाइल फोटो

आंकड़े बताते हैं कि बीते साल मध्य प्रदेश में विदेशी सैलानियों की संख्या एक लाख तक घटी है. अन्य पर्यटन निगमों की तुलना में प्रचार के मामले में एमपी काफी पीछे हो गया है.

  • Share this:
इंटरनेशनल लेवल पर एमपी टूरिज्म की ब्रांडिंग के बावजूद मध्य प्रदेश में विदेशी सैलानियों का आना कम हो रहा है. दरअसल, आंकड़े बताते हैं कि बीते साल मध्य प्रदेश में विदेशी सैलानियों की संख्या एक लाख तक घटी है.

साल 2017 में जहां 2 लाख 57 हज़ार विदेशी सैलानी मध्य प्रदेश घूमने आए तो वहीं 2016 में ये आंकड़ा 3 लाख 63 हज़ार था, वहीं इससे पहले 2015 में मध्य प्रदेश आने वाले विदेशी सैलानियों की संख्या 4 लाख 21 हजार के करीब थी. मध्य प्रदेश में विदेशी सैलानियों की घटती संख्या इसलिए चिंता की वजह है क्योंकि सूबे में तीन वर्ल्ड हैरिजेट साइट हैं जबकि 10 नेशनल पार्क हैं.

ये पढ़ें- मध्य प्रदेश में लंबित हैं दस हजार से ज्यादा आरटीआई!



इतना ही नहीं लगातार तीन बार ‘बेस्ट टूरिज्म स्टेट’ का राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल करने वाले मध्यप्रदेश टूरिज्म की हालत प्रचार और सोशल मीडिया में भी सही नहीं है. अन्य पर्यटन निगमों की तुलना में प्रचार के मामले में एमपी काफी पीछे हो गया है.



इसके लिए एमपी टूरिज्म ने राज्य के प्रमुख पर्यटन केंद्रों को प्रमोट करने के लिए ट्विटर पर दिसंबर 2012 में प्रचार कैम्पेन की शुरुआत की थी. 70 माह में विभाग से अभी तक 41 हजार 6338 फॉलोअर्स ही जुड़े हैं. औसतन एक माह में 522 फॉलोअर्स ही जुड़ रहे हैं, जो -गोवा, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, बंगाल, उत्तरप्रदेश, राजस्थान टूरिज्म से काफी कम है.

ये भी पढ़ें- एमपी कांग्रेस में फिर दिखी गुटबाजी, कमलनाथ की बैठक छोड़ चली गईं मीनाक्षी नटराजन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading