शिवराज का कांग्रेस पर हमला: चील-कौओं की तरह प्रदेश को नोंच रही है सरकार

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश अब बर्बादी की कगार पर पहुंच गया है. ये सरकार चील और कौओं की तरह प्रदेश को नोंच-नोंच कर खा रही है. मुख्यमंत्री की ड्यूटी है वो इस प्रदेश को बचाएं. सरेआम जो आरोप लग रहे हैं सत्ता पक्ष के जरिए उसका जवाब दें.

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 5, 2019, 10:28 PM IST
शिवराज का कांग्रेस पर हमला: चील-कौओं की तरह प्रदेश को नोंच रही है सरकार
शिवराज बोले-मेरा प्रदेश बर्बाद हो रहा है.
Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 5, 2019, 10:28 PM IST
भोपाल. मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कांग्रेस के सियासी घमासान पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Former Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने चिंता जाहिर की है. सिंह का कहना है कि प्रदेश में क्या हालात बन गए हैं. कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) ने बना चारों तरफ हाहाकर की स्थिति बना दी है. सरकार बनने पर उम्मीद थी कि कुछ तो बेहतर करेंगे, लेकिन ऐसा हो नहीं पा रहा है. मैं जनता के लिए चिंतित हूं. बस चिंतित ही नहीं हूं बल्कि मध्य प्रदेश को बर्बाद होते देख मेरे साथ जनता भी परेशान है. जैसा हिसाब-किताब बता रहे हैं वो समझ से परे है. कांग्रेस के मंत्री-विधायक बता रहे हैं कि कौन-कौन सा मंत्री कैसे पैसे खा रहा है और किसके ट्रांसफर में कौन कितने पैसे ले रहा है. कौन पत्थर-गिट्टी लूट रहा है और कौन भ्रष्टाचार कर रहा है.

ऐसा राज मप्र ने कभी नहीं देखा
इस वक्‍त जैसा राज मप्र में कांग्रेस सरकार में चल रहा है, वैसा इससे पहले कभी नहीं देखा है. प्रदेश में भ्रष्टाचार के सारे रिकॉर्ड तोड़े जा रहे हैं. भ्रष्‍टाचार में भी हिस्सेदारियां हो रही हैं. कांग्रेस के एक बड़े नेता रेत के उत्खनन में लूट मार मचा रहे हैं. ट्रांसफर और पोस्टिंग में पैसे लिए जा रहे हैं. किस मुंह से सरकार चला रहे हैं ये तो बताएं. प्रदेश अब बर्बाद और तबाह हो चुका है.

चील-कौओं की तहर प्रदेश को नोंच रही सरकार

मध्य प्रदेश अब बर्बादी की कगार पर पहुंच गया है. ये सरकार चील और कौओं की तरह प्रदेश को नोंच-नोंच कर खा रही है. मुख्यमंत्री की ड्यूटी है वो इस प्रदेश को बचाएं. सरेआम जो आरोप लग रहे हैं सत्ता पक्ष के जरिए उसका जवाब दें. मैडम सोनिया गांधी की ड्यूटी है कि वो देश को बताएं कि ऐसी लूट हो रही है. उसको रोकने कुछ करेंगी या नहीं करेंगी. लूट के हिस्से में उपर से नीचे तक क्या सबकी भागीदारी है.

सरकार चलने लायक नहीं है
शिवराज ने आगे कहा कि पहले ये तो बताएं कि कौआ कौन है. आंतरिक लोकतंत्र क्या है. क्या आंतरिक लोकतंत्र लूट के लिए होता है. आंतरिक लोकतंत्र वो है जो चुनाव में हो, संगठन में चुनाव हो और पार्टी फोरम पर लोग बात करें. अंदर की सारी बातें बाहर आ रही हैं. अब ये सरकार चलने के काबिल नहीं है. कौन किस को बर्खास्त करें ये समझ ही नहीं आ रहा है. सरकार चला कौन रहा है. ये भी तो नहीं पता है, जिसने पाप नहीं किया हो वो पहला पत्थर मारे.
Loading...

मप्र का विकास ठप
शिवराज ने फिर हमला करते हुए कहा  कि ये ऐसा तमाशा हो गया है कि समझ नहीं आता है कि क्या संज्ञा दें. इस तमाशे को तो अब अलीबाबा 40 चोर का नाम भी नहीं दे सकते हैं. अध्यक्ष का भी चुनाव नहीं कर पा रहे हैं, लेकिन जिस ढंग से कारनामे हो रहे हैं उससे मप्र का विकास ठप हो गया है. जनता का कल्याण रूक गया है. योजनाएं रूक गई हैं. जनहित की योजनाओं पर ब्रेक लग गया है. कौन-किसे मारे यही मचा है. मेरे प्रदेश को तो अब भगवान बचाएं.

हम नहीं कांग्रेस आपस में ही लड़ेंगी
जहां तक हमारी पार्टी का सवाल है. हमने तय किया था कि किसी सरकार को जोड़तोड़ से नहीं गिराएंगे. जोड़ा-तोड़ा बहुमत है तो भी वो सरकार चलाए. कांग्रेसी आपस में भी ही लड़कर मर रहे हैं. सरकार की फजाहीत कराने पर आमदा हैं. अब भाजपा सड़कों पर जनता की लड़ाई लड़ेगी.

ये भी पढ़ें-

सियासत की वजह से भोपाल-इंदौर से पीछे रह गया प्रदेश का ये 'पॉवर सेंटर' शहर

दिग्‍गी समर्थक मानक अग्रवाल की सिंघार को नसीहत, डम्‍पर कांड के सौदेबाज मंत्री हैसियत ना भूलें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 9:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...