भोपाल Flood Updates : कलियासोत इलाके में दीवार ढहने से 1 की मौत, कई परिवार बेघर, पीड़ितों के बीच पहुंचे दिग्विजय सिंह
Bhopal News in Hindi

भोपाल Flood Updates : कलियासोत इलाके में दीवार ढहने से 1 की मौत, कई परिवार बेघर, पीड़ितों के बीच पहुंचे दिग्विजय सिंह
इलाके के लोगों ने बिल्डर्स की शिकायत की जिन्होंने अवैध प्लॉट काट दिए हैं.

दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने सवाल उठाया कि कलियासोत डैम (DAM) के तीन गेट खोलने का ऐलान हुआ था लेकिन बारह गेट खोल दिए गए. इससे बड़ी आबादी प्रभावित हुई है.

  • Share this:
भोपाल. पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) राजधानी भोपाल में हुई मूसलाधार बारिश (Heavy rains) के कारण बिगड़े हालातों का जायजा लेने निकले. वो कोलार के दाम खेड़ा इलाके में पहुंचे.यहा बस्ती पर दीवार ढहने से एक ही परिवार के तीन लोग दब गए. उनमें से एक की मौत (death) और दो लोग घायल हो गए. कलियासोत डैम का गेट खुलने के कारण इस बस्ती में बाढ़ आने से कई परिवार बेघर हो गए हैं. घरों में पानी भर गया है. अनाज और सामान सब भीग गया है.

हादसे के पीड़ितों के बीच आज पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पहुंचे. उन्होंने लोगों से मुलाकात कर हालात का जायजा लिया. उन्होंने जिला प्रशासन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया. कलियासोत डैम के तीन गेट खोलने का ऐलान हुआ था लेकिन बारह गेट खोल दिए गए. 12 गेट खोलने के कारण बड़ी आबादी प्रभावित हुई है.

दिग्विजय सिंह ने डैम का पानी छोड़ने से प्रभावित बस्तियों में तत्काल राहत दिए जाने की मांग की है. साथ ही बिल्डर पर कार्रवाई नहीं होने पर भी सवाल उठाए हैं. लोगों ने आरोप लगाया कि कोलार इलाके में सिंचाई की जमीनों पर बिल्डर्स ने गलत तरीके से कॉलोनी काट दी. उन्होंने अवैध निर्माण की जांच कराने की मांग की है.दिग्विजय ने बाढ़ पीड़ितों के सर्वे में भी गड़बड़ी का आरोप लगाया.

प्रशासन की लापरवाही पर भड़के लोग


कोलार को जोड़ने वाले पुल के पास सर्व धर्म रोड पर झुग्गी के लोग धरने पर बैठ गए. इसके कारण दोनों और लंबा जाम लग गया. पुलिस और जिला प्रशासन की मशक्कत के बाद लोगों को सड़क से हटाया गया.बीते दिनों राजधानी में ज़ोरदार बारिश हुई.इसके कारण बड़े तालाब का लेवल अधिकतम स्तर से ऊपर होने पर भदभदा डैम डैम के गेट खोले गए. यहां से पानी छोड़ने के कारण डैम की नहर के ऊपर घर बनाकर रहने वाले परिवार बाढ़ की चपेट में आ गए. और अब राहत मिलने में हो रही देरी पर लोग नाराज हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज