सिंधिया के चहेते शिवराज के इस मंत्री को कमल नाथ की चुनौती, अब आगे क्या होगा !

उप चुनाव से पहले नेताओं के बीच बयानों के तीर जमकर चल रहे हैं.
उप चुनाव से पहले नेताओं के बीच बयानों के तीर जमकर चल रहे हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) और मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर की अदावत नई नहीं है. इससे पहले जब वह कांग्रेस सरकार में खाद्य मंत्री थे तब एक बार कैबिनेट (Cabinet) की बैठक के दौरान उनकी कमलनाथ से कहासुनी हो गई थी.

  • Share this:
भोपाल.पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ (Kamalnath) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया (Scindia) के चहेते शिवराज सरकार में ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर को जवाब दिया है. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने एक बयान में कहा है कि प्नद्युम्न सिंह तोमर जिससे चाहे उनकी जांच करा लें.उनके 40 साल के राजनीतिक करियर पर एक भी दाग नहीं है. जहां तक बात तोमर के आरोपों की है तो वह ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि उपचुनाव से पहले उनकी पिटाई हो रही है और जनता उन्हें आने वाले चुनाव में जवाब दे देगी.

प्रदुमन सिंह तोमर ने ग्वालियर में अपने एक बयान में कहा था कि कांग्रेस पार्टी के सीईओ यानी पीसीसी चीफ कमलनाथ के 15 महीनों के कार्यकाल की अगर जांच करा ली जाए तो फिर उनकी जगह जेल में होगी. उनके इस बयान के बाद कांग्रेस पार्टी उन पर हमलावर हो गई थी. लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का बयान सामने नहीं आया था. गुरुवार को जब कमल नाथ मीडिया के सामने आए तो उन्होंने प्रदुमन सिंह तोमर को भी जवाब दिया.





पुरानी है अदावत
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर की अदावत नई नहीं है. इससे पहले जब वह कांग्रेस सरकार में खाद्य मंत्री थे तब एक बार कैबिनेट की बैठक के दौरान उनकी कमलनाथ से कहासुनी हो गई थी. बंद कमरे में हुई इस कहासुनी की बहुत बातें तो सामने नहीं आईं लेकिन जो बात सामने आई थी उससे इतना तो साफ था कि कमलनाथ और प्रद्युमन सिंह तोमर के बीच कैबिनेट की बैठक के दौरान तीखी नोकझोंक हुई थी. तोमर सिंधिया समर्थक हैं और कांग्रेस की सरकार के दौरान वह ग्वालियर विधानसभा सीट से विधायक थे. उन्हें कमलनाथ सरकार में सिंधिया कोटे से खाद्य मंत्री बनाया गया था. मार्च में प्रद्युम्न सिंह सिंधिया के साथ ही बीजेपी में शामिल हो गए.

उपचुनाव में बदले समीकरण
उपचुनाव में सियासत 360 डिग्री तक घूम चुकी है. वह प्रद्युमन सिंह तोमर जो कभी कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री थे वह अब बीजेपी की शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं. लिहाजा उनका मुकाबला अब कांग्रेस के उम्मीदवार से होगा. तोमर ग्वालियर विधानसभा सीट से विधायक थे और इस बार भी उनके उसी सीट से चुनाव लड़ने की संभावना है. कांग्रेस ने उनके मुकाबले में सुनील शर्मा को मैदान में उतारा है. उप चुनाव से पहले नेताओं के बीच बयानों के तीर जमकर चल रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज