कांग्रेस के घमासान पर अरुण यादव का ट्वीट- पहले पता होता तो भ्रष्ट विचारधारा से नहीं लड़ता

मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में पीसीसी चीफ की नियुक्ति के लिए मारामारी और फिर ज्योतिरादित्य सिंधिया की दावेदारी के कारण कांग्रेस (Congress) में पहले ही घमासान मचा हुआ था. अब इसमें प्रदेश के पूर्व पार्टी प्रमुख अरुण यादव भी इसमें कूद गए हैं.

News18 Madhya Pradesh
Updated: September 3, 2019, 1:49 PM IST
कांग्रेस के घमासान पर अरुण यादव का ट्वीट- पहले पता होता तो भ्रष्ट विचारधारा से नहीं लड़ता
कांग्रेस में घमासान से मध्‍य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रमुख अरुण यादव व्‍यथित हैं. (फाइल फोटो)
News18 Madhya Pradesh
Updated: September 3, 2019, 1:49 PM IST
मध्य प्रदेश में (Madhya Pradesh) कांग्रेस (Congress) में मचा घमासान और गुटबाज़ी थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब इसमें पूर्व पीसीसी चीफ अरुण यादव (Arun Yadav) भी कूद गए हैं. उन्होंने ट्वीट कर पार्टी के हालात पर अफसोस ज़ाहिर किया है.

मध्य प्रदेश के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव का ट्वीट मध्य प्रदेश में नेताओं की उठापटक के बीच आया है. उन्होंने लिखा, 'मैं बहुत आहत हूं. मध्य प्रदेश में 15 साल तक ईमानदार पार्टीजनों के साथ किए गए संघर्ष के बाद मात्र आठ महीनों में जो स्थितियां सामने आ रही हैं, उसे देखते हुए बहुत व्यथित हूं.'

अरुण यादव आगे लिखते हैं कि यदि इस बात का पहले ही आभास हो जाता कि ऐसी स्थितियां इतनी जल्‍द आ जाएंगी तो शायद जान हथेली पर रखकर ज़हरीली और भ्रष्ट विचारधारा के ख़िलाफ़ लड़ाई नहीं लड़त...बहुत आहत हूँ.

ये भी पढ़ें-'सिंधिया' के ख़िलाफ वक़्त बदला किरदार वही
Loading...

दिग्विजय की चिट्ठी के बाद से बवाल

पीसीसी चीफ की नियुक्ति के लिए मारामारी और फिर ज्योतिरादित्य सिंधिया की दावेदारी के कारण पार्टी में पहले ही घमासान मचा हुआ था. रही-सही कसर दिग्विजय सिंह की चिट्ठी ने पूरी कर दी जो उन्होंने कमलनाथ के मंत्रियों को लिखी थी. वन मंत्री उमंग सिंघार ने सीधे-सीधे दिग्विजय सिंह के ख़िलाफ मोर्चा खोल दिया और पार्टी आलाकमान सोनिया गांधी तक शिकायत लेकर पहुंच गए. सिंघार सामने आए तो दूसरी तरफ से दिग्विजय सिंह समर्थक मंत्रियों ने मोर्चा संभाल लिया. अब कांग्रेस का हर गुट सक्रिय है और अपनी अपनी बात कह रहा है.

ये भी पढ़ें-'सिंधिया' के ख़िलाफ वक़्त बदला किरदार वही

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 12:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...