रेलवे स्टेशन के पास तीन घंटे तक गैंगरेप, पढ़ें- रुह कंपाने वाली FIR के अंश

Manoj Rathore | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: November 3, 2017, 4:18 PM IST
रेलवे स्टेशन के पास तीन घंटे तक गैंगरेप, पढ़ें- रुह कंपाने वाली FIR के अंश
सांकेतिक तस्वीर
Manoj Rathore | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: November 3, 2017, 4:18 PM IST
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सिविल सर्विस परीक्षाओं की तैयारी कर रही छात्रा से गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है. इस मामले में राजधानी पुलिस की बड़ी लापरवाही का भी खुलासा हुआ है.

न्यूज18/ईटीवी के पास उस एफआईआर की कॉपी है, जिसमें भोपाल पुलिस की लापरवाही का जिक्र किया गया है. भोपाल की थाना पुलिस पीड़ित छात्रा और उसके परिजन को एफआईआर दर्ज करने के लिए दिनभर घूमाती रही.

पुलिस के अधिकारी और कर्मचारियों ने बार-बार घटना स्थल का निरीक्षण और बयान दर्ज कर पीड़ित छात्रा और उनके परिजनों को परेशान किया. आखिरकार पीड़िता और उसके परिवार ने ही गैंगरेप की वारदात को अंजाम देने वाले चार आरोपियों में से एक को ढूंढ निकाला.

FIR में दर्ज भोपाल पुलिस की लापरवाही?

पीड़िता ने दर्ज कराई एफआईआर के अनुसार, 'मेरे साथ गलत काम किया और मेरा मोबाइल फोन, सोने की कान की बाली ली, घड़ी लेकर मुझे छोड़कर चले गए. इसके बाद बाद मैं आरपीएफ थाना हबीबगंज हो की पास में ही है, वहां गई...वहां से मैंने अपने पिताजी और मेरी मां को फोन किया...इसके बाद पिताजी मुझे लेने को आए...पिताजी मुझे भोपाल की रेलवे कॉलोनी स्थित घर ले गए...मैंने रात में अपने पिताजी और मां को पूरी घटना बताई...मेरी हालत ठीक नहीं थी, इस कारण रात में शिकायत दर्ज नहीं कराई...जब मैं अपने पिता और मां के साथ एमपी नगर थाने और हबीबगंज थाने रिपोर्ट कराने गई थी, तो मुझे जीआरपी थाना हबीबगंज में रिपोर्ट करने का पता चला...जीआरपी थाना हबीबगंज में रिपोर्ट दर्ज आ रही थी, तो रास्ते में मानसरोवर के सामने गोलू बिहारी नाम का आरोपी मिल गया...इसी आरोपी ने पटरी के बीच में रोक कर मारपीट की थी और वो घसीटकर नाले में ले गया था...हम तीनों ने गोलू को पकड़ लिया और थाने लेकर रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंची...मेरे साथ मारपीट की घटना रेलवे पटरी के बीच हुई थी...मेरे साथ जिन चारों व्यक्तियों ने गलत काम किया, उनमें से शेष तीन लोगों को मैं सामने आने पर पहचान लूंगी...
First published: November 3, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर