• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • EXCLUSIVE : गंजबासौदा हादसे के रेस्क्यू ऑपरेशन में बड़ी लापरवाही, 17 घंटे बाद भोपाल से पहुंचे पंप

EXCLUSIVE : गंजबासौदा हादसे के रेस्क्यू ऑपरेशन में बड़ी लापरवाही, 17 घंटे बाद भोपाल से पहुंचे पंप

गंजबासौदा में दुर्घटनास्थल का ड्रोन कैमरे से लिया गया फोटो

गंजबासौदा में दुर्घटनास्थल का ड्रोन कैमरे से लिया गया फोटो

Ganjbasoda accident : गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने कहा घटना की जानकारी प्रशासन को देर से मिली. उन्होंने कहा पीड़ादायी घटना है. तीन शव मिल चुके हैं. 8 लापता हैं. SDRF की टीम रेस्क्यू कर रही है. सरकार ने मृतकों के परिवार को पांच-पांच लाख और घायलों को 50 हजार रुपये देने की घोषणा की है.

  • Share this:
भोपाल. गंजबासौदा हादसे (Ganjbasoda accident) के रेस्क्यू ऑपरेशन (rescue operation) में बड़ी लापरवाही सामने आयी है. पूरे 17 घंटे बाद भोपाल से कुएं से पानी निकालने के लिए 5 हाई पावर पंप पहुंचाए गए. सरकार का कहना है हादसे की सूचना देर से दी गयी. पहले लोकल लेवल पर ही बचाव कार्य प्रशासन करता रहा. जब देर हो गयी तब भोपाल खबर की गयी.

इन पंप को इसलिए भेजा गया क्योंकि पहले जिन पंपों से पानी निकाला जा रहा था वह उतना पानी बाहर नहीं निकाल पा रहे थे. अब भोपाल से पहुंचे हाई पावर पंपों की मदद से पानी को तेजी से बाहर निकाला जा रहा है ताकि मिट्टी में दबे हुए शवों को बाहर निकाला जा सके. इधर प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है लोगों ने घटना की जानकारी सूचना प्रशासन को देरी से दी.

रेस्क्यू में कहां-कहां हुई लापरवाही
गंजबासौदा में कुएं में बड़ी संख्या में लोगों के गिरने  की  घटना करीब शाम 6 बजे की बताई जा रही है. घटना की सूचना मिलने के एक घंटे बाद करीब 7 बजे स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची. इसके बाद रेस्क्यू का काम शुरू किया गया. वहां पर लगे  जिम्मेदार अफसरों और जनप्रतिनिधियों  ने कर्मचारियों के साथ मिलकर रेस्क्यू शुरू किया. लेकिन उन्हें घंटों रुकने के बाद यह बात समझ में नहीं आई कि कुएं से पानी निकालने के लिए मौजूदा पंप फेल होंगे. घंटों की लापरवाही के बाद भोपाल नगर निगम को हाई पावर पंप के लिए जानकारी भेजी गई. इसके करीब 17 घंटे बाद भोपाल नगर निगम की मदद पहुंची. भोपाल नगर निगम की आपदा प्रबंधन शाखा ने 6 कर्मचारी, 5 पंप और दूसरे बचाव के उपकरण गंज बासौदा भेजे. कुएं से तेजी से पानी निकालने का काम हाई पावर पंप कर रहे हैं. मौजूदा पंप जितना पानी निकाल रहा है उससे कहीं ज्यादा नया पानी कुएं में लगातार आ रहा है. कुएं को पूरा खाली करने के लिए भोपाल से भेजे गए इन हाई पावर पंप का इस्तेमाल किया जा रहा है.

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कही देरी की बात
गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा घटना की जानकारी प्रशासन को देर से मिली. उन्होंने कहा पीड़ादायी घटना है. तीन शव मिल चुके हैं. 8 लापता हैं. SDRF की टीम रेस्क्यू कर रही है. सरकार ने मृतकों के परिवार को पांच-पांच लाख और घायलों को 50 हजार रुपये देने की घोषणा की है. प्रशासन को सूचना देने में लोगों ने देरी की. गांव के लोगों ने सोचा वो ही कर लेंगे. मुख्यमंत्री इसलिए नहीं गए क्योंकि प्रशासन का ध्यान बंटता है. सीएम पहुंचते तो टीम का ध्यान बंट जाता.

विधानसभा अध्यक्ष ने दुख जताया
गंजबासौदा हादसे पर विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने कहा बड़ी दुःखद दुर्घटना है. बच्चा कुएं में गिरा होगा. दौड़ के लोग ग़ए होंगे. किसी को अंदाज़ा नही होगा कि कुंए में और भी लोग फंस सकते हैं. सरकार की तरफ़ से परिवारों को अर्थिक मदद दी गई है. राहत कार्य अभी भी जारी है. ईश्वर से यही प्रार्थना की परिवार जनों को दुख सहने की शक्ति दें.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज