लाइव टीवी

शिवराज पर मुख्य सचिव की टिप्पणी को लेकर नेता प्रतिपक्ष ने अफसरों को दी ये नसीहत
Bhopal News in Hindi

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 19, 2020, 11:01 PM IST
शिवराज पर मुख्य सचिव की टिप्पणी को लेकर नेता प्रतिपक्ष ने अफसरों को दी ये नसीहत
गोपाल भार्गव ने नई शराब नीति को लेकर भी सरकार पर हमला बोला

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव (Gopal Bhargav) ने मुख्य सचिव एसआर मोहंती को नसीहत देते हुए कहा कि वो सरकार की चरण वंदना करना बंद करें. उन्होंने कहा कि सरकारें तो आती जाती रहती हैं लेकिन अधिकारी वहीं रहते हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में पोषण आहार को लेकर शुरू हुआ सरकार और विपक्ष (Opposition) के बीच बयानबाजी का दौर आगे भी जारी है. इस मामले को लेकर मुख्य सचिव एस आर मोहंती (SR Mohanty) द्वारा शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) के खिलाफ टिप्पणी किए जाने को लेकर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि कहा कि, 'आप सरकार की चरण वंदना करना बंद करो, क्योंकि सरकारें तो आती जाती रहती हैं, लेकिन आप सभी को अपने कर्तव्य से अपनी व्यवस्थाओं से पीछे नहीं हटना चाहिए.' उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव जब इस तरह का आचरण करेंगे तो मातहत अधिकारी भी इसी तरह का आचरण करेंगे. भार्गव ने कहा कि इसी के कारण राजगढ़ थप्पड़ कांड (Rajgarh Slapgate) जैसी घटनाएं भी हुई हैं.

'मुख्य सचिव की पूर्व मुख्यमंत्री पर टिप्पणी आपत्तिजनक'
उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव ने पूर्व सीएम शिवराज सिंह के फैसलों के बारे में जो टिप्पणी की है वो आपत्तिजनक है. उनकी ये ये टिप्पणी सर्विस रूल के खिलाफ है. हमारी मान्यताओं के खिलाफ है. मप्र में कभी ऐसी स्थिति नहीं रही है कि कोई ब्यूरोक्रेट्स पूर्व सीएम पर टिप्पणी करे. सीएस मोहंती ने जो कहा इस प्रकार का उदाहरण एमपी के इतिहास में अब तक देखने को नहीं मिला है.

भार्गव ने अफसरों को दी नसीहत



नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि मैं सभी अधिकारियों को आगाह कराना चाहता हूं कि उनको अपने कर्तव्य से व्यवस्थाओं से नहीं हटना चाहिए. दरअसल पूर्व सीएम शिवराज सिंह को लेकर मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने कहा था कि शिवराजजी को पीपीपी मोड क्या होता है इसकी कोई जानकारी नहीं है. नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि हम अफसरों से आचरण सुधारने की अपेक्षा करते हैं.

'प्रदेश का नाम मदिरा प्रदेश हो जाएगा..'
नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने सरकार नई शराब नीति को लेकर भी सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि नई शराब नीति में गांव-गांव में शराब बिकेगी, इसके बाद एमपी मदिरा प्रदेश के नाम से जाना जाएगा. भार्गव ने कहा कि थप्पड़ कांड की जांच के नाम पर राजगढ़ कलेक्टर को क्लीन चिट दे दी गई. उन्होंने कहा कि प्रमाण होने के बाद भी क्लीन चिट देना इस तरह के अधिकारियों को प्रोत्साहन देना है. ऐसे तो अफसर और पार्टी का गठजोड़ प्रदेश के लिए दुष्परिणाम साबित होगा. उन्होंने कहा कि वो इन सभी मुद्दों को विधानसभा में उठाएंगे.

ये भी पढ़ें -
लक्ष्मण सिंह ने कंप्यूटर बाबा को बताया फर्जी, कहा- ऐसे ही बाबाओं के चक्कर में हारी थी कांग्रेस
MP: धरने के 72वें दिन महिला अतिथि विद्वान ने मुंडन कराया, नम हो गईं लोगों की आंखें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 19, 2020, 11:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर