लाइव टीवी

एमपी के बेरोजगारों को सरकारी नौकरी देगी कमलनाथ सरकार!, विभागों से मांगा रिक्त पदों का ब्योरा

Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 16, 2019, 11:22 PM IST
एमपी के बेरोजगारों को सरकारी नौकरी देगी कमलनाथ सरकार!, विभागों से मांगा रिक्त पदों का ब्योरा
बेरोज़गारों को मध्य प्रदेश में सरकारी नौकरी देने की योजना

प्रदेश सरकार अब कांग्रेसी फार्मूले से बेरोजगारों (Unemployed) को रोजगार देने की कोशिश में है. दिग्विजय शासन में हजारों युवाओं को शिक्षाकर्मी (Shikshakarmi) बनाने वाली कांग्रेस सरकार ने अब सरकारी विभागों के खाली हजारों पदों को भरकर बेरोजगार युवाओं को खुश करने का प्लान तैयार किया है.

  • Share this:
भोपाल. शिक्षित बेरोजगारों (Educated unempolyed) को रोजगार (Job) देने की सरकारी कोशिश जल्द परवान चढ़ेगी. प्रदेश के 30 लाख से ज्यादा शिक्षित बेरोजगारों के लिए कमलनाथ सरकार सरकारी नौकरियों (Government Job) में शामिल होने के लिए भर्ती के दरवाजे पूरी तरह से खोलने की तैयारी में है. प्रदेश में उद्योग (Industries) नहीं लगने का असर, सरकारी विभागों में खाली पदों (Government Vacancy) पर भर्ती नहीं होने का असर, प्रदेश की एक बड़ी आबादी जो युवाओं की है उसे बेरोजगारी के रूप में झेलना पड़ा रहा है. लेकिन बदली सत्ता के साथ अब युवाओं की उम्मीदें भी उड़ान भरने लगी हैं.

सरकार ने दिए संकेत
सरकार ने साफतौर पर संकेत दे दिए हैं कि प्रदेश के खाली सरकारी पदों को भरने से लेकर निवेश के जरिए स्थानीय स्तर पर रोजगार के लिए सरकार की बड़ी तैयारी है. लंबे समय से अटकी विभागीय परीक्षाओं को आयोजित करने के निर्देश भी जारी हो गये हैं. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सभी विभागों से खाली सरकारी पदों की जानकारी भी मांगी है, जिस पर सरकार भर्तियां कर पुराने ढर्रे को बदलने की कोशिश कर रही है. मतलब साफ है कि सरकारी नौकरियों में दक्ष युवाओं को मौका देकर सरकार खाली पदों को भरने के साथ ही बेरोजगारी के आंकड़ों को कम करने की कोशिश में है.

बेरोज़गारी दूर करने के लिए ये है सरकार का प्लान

>> मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग ने सरकारी विभागों में भर्तियों की प्रक्रिया शुरू की है.
>> 31 दिसंबर 2018 को परीक्षाओं के जारी कैलेंडर पर अब तेजी से अमल होगा.
>> कृषि विभाग में सहायक संचालक पद पर भर्ती होगी.>> इसके बाद डीएसपी, डिप्टी कलेक्टर समेत कई पदों पर भर्तियां होंगी.
>> हाईस्कूल शिक्षक के रिक्‍त 15 हजार पदों पर भी भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी.
>> इसके अलावा सरकार विभागीय भर्ती की प्रक्रिया भी शुरु करेगी.
>> निवेश आने पर निजी क्षेत्र में भी रोजगार की पहल होगी.

मतलब साफ है कि एमपी पीएससी (MP PSC) की दो साल से अटकी परीक्षाएं अब शुरू होंगी, तो वहीं शिक्षक, डॉक्टर से लेकर विभागीय स्तर की परीक्षाएं आयोजित कर सरकार बेरोजगारों को खुश करने की कोशिश करेगी.

बीजेपी का हमला
कांग्रेस सरकार की बेरोजगारों को खुश करने की कवायद पर बीजेपी ने सरकार पर हमला बोला है. पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा है कि सरकार बेरोजगारों से परीक्षा शुल्क लेकर अपना खजाना भरने का काम कर रही है.

बता दें, प्रदेश में हर साल तेजी के साथ बेरोजगारों की संख्या बढ़ रही है. रोजगार कार्यालयों में शिक्षित बेरोजगारों की संख्या 30 लाख के ऊपर है.

ये भी पढ़ें -
मध्य प्रदेश में छात्र संघ चुनावों की तारीख क्यों तय नहीं कर पा रहा उच्च शिक्षा विभाग?
मध्य प्रदेश सरकार ने की शिखर सम्मानों की घोषणा, स्वयं प्रकाश, राहत इंदौरी समेत 27 हस्तियों को मिलेंगे अलंकरण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2019, 10:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर